बच्ची को बोरे में बंद कर पीटने वाली सौतेली मां को भेजा गया जेल

सेक्‍टर 29 में पांच साल की बच्‍ची को दरिंदगी से मारने वाली  सौतेली मां को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. इस मामले की शिकायत केंद्रीय महिला व बाल विकास मंत्री मेनका गांधी से भी की गई है। मेनका गांधी ने पूरे मामले पर चंडीगढ़ के डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा और गृह सचिव अनुराग अग्रवाल से रिपोर्ट मांगी थी।

बता दें कि इस महिला ने अपनी बर्बरता से मां की ममता को कलंकित कर दिया। वह बच्‍ची को बोरी में बंद कर पीटती थी। इतना ही नहीं पिता घर से के जाने के बाद वह बच्‍ची को जानवरों की तरह मारती थी। आरोप है कि उसने उसका पैर भी तोड़ दिया था। बच्‍ची के 12 साल के भाई ने मोबाइल से किसी तरह सौतेली मां की हैवानियत का वीडियो बनाकर पिता को दिखाया तो उसके होश उड़ गए और उसने पुलिस में शिकायत दी। इसका वीडियो वायरल होने पर मंगलवार को बाल संरक्षण आयोग ने भी संज्ञान लिया।
मंगलवार को समाजसेवी संजीव गर्ग ने मेनका गांधी को मेल कर मामले से अवगत करवाया। इसके बाद मेनका गांधी ने उनसे फोन पर मामले की जानकारी ली। इसके साथ ही मेनका गांधी ने इस पूरे मामले को लेकर चंडीगढ़ के डीजीपी तेजिंदर सिंह लूथरा और गृह सचिव अनुराग अग्रवाल से रिपोर्ट मांगी थी। दोनों को मामले में तुरंत प्रभाव से जरूरी कदम उठाने वसख्त कार्रवाई की हिदायत दी थी।

Share With:
Rate This Article