अमरनाथ यात्रा को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने की उच्च स्तरीय बैठक

0
28
views

कश्मीर ने सेना का ऑपरेशन ऑलआउट फिर से शुरू हो सकता है. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर आज दोपहर कश्मीर के मामले पर उच्च स्तरीय बैठक की गई. सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में ईद के बाद कश्मीर में सीजफायर खत्म करना है या इसे जारी रखना है, इस पर चर्चा हुई. हालांकि अभी इस पर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है. जम्मू-कश्मीर में शांति के उद्देश्य से गृहमंत्रालय ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन पर ईद तक रोक लगाई थी. इसे रमज़ान सीज़फायर कहा गया था. बैठक में अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा पर भी बात हुई.

45 मिनट चली इस बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ साथ NSA अजीत डोभाल, आर्मी चीफ, आईबी चीफ, CRPF के DG, BSF के DG, जम्मू कश्मीर पुलिस के DGP के अलावा गृह सचिव राजीव गौबा समेत गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी भी मौजूद थे. इस बैठक से ठीक पहले BJP महासचिव और जम्मू-कश्मीर के प्रभारी राम माधव ने गृह सचिव राजीव गाबा से मुलाकात की.

इस बैठक में अमरनाथ यात्रा के मुकम्मल सुरक्षा प्लान को लेकर भी चर्चा हुई जिसमें DG CRPF और BSF DG ने अपने पूरे डिप्लॉयमेंट के बारे में गृह मंत्री राजनाथ सिंह को जानकारी दी. अमरनाथ यात्रा पर ख़ुफ़िया एजेंसियों के इनपुट पर भी पूरी चर्चा हुई. खतरे को देखते हुए इस बार तकनीक के आधार पर पूरे यात्रा रुट को सुरक्षित करने का प्लान तैयार हुआ है.

अमरनाथ यात्रा सुरक्षा प्लान के मुताबिक़ 

1. यात्रियों को ले जाने वाली गाड़ियों पर RFID को इस पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर लगाया जाएगा. इसका मकसद है कि निजी गाड़ियों और अवैध रूप से यात्रियों को ले जाने पर रोक लगाना है.

2. यात्रा रुट पर 228 अर्धसैनिक बलों की कंपनी तैनात की जाएंगी, जो पिछले साल की अपेक्षा 20 कंपनी ज्यादा होंगी. इन कंपनियों को विशेष तौर पर सुरक्षा देने की ट्रेनिंग दी गई है.

3. सुरक्षा के लिहाज से इस बार तीसरी आंख की नज़र पूरी यात्रा पर रहेगी.