बिलासपुर: सतलुज नदी में फंसे तीन युवकों को प्रशासन ने बचाया

0
436
views

बिलासपुर

तीन युवकों को मौज-मस्ती करना भारी पड़ गया.सतलुज का जलस्तर बढ़ने के चलते युवक नदी के बीचों बीच फंस गए. जिन्हें तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद सुरक्षित निकाला गया. मिली जानकारी के मुताबिक बिलासपुर जिले के तीन युवक रविवार को सीमावर्ती क्षेत्र डैहर के अलसू गौ सदन के पास सतलुज के कम पानी में गर्मी से राहत पाने के लिए गए थे. जहां वह नदी के बीच स्थित पत्थरों पर बैठे थे. इसी बीच सतलुज नदी पर स्थित दोनों परियोजनाओं में विद्युत उत्पादन के बाद एकाएक भारी मात्रा में पानी छोड़ा गया जिसके चलते नदी का जल स्तर बढ़ गया.

इस दौरान तीनों युवक सतलुज की खतरनाक लहरों के बीच फंस गए. युवकों के चिल्लाने की आवाज सुनकर पास के काम कर रहे लोग मौके पर आ गए. उन्होंने युवकों को नदी के बीच पत्थरों के बड़े टीले पर चढ़कर पानी कम होने का इंतजार करने के लिए कहा. स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस प्रशासन को दी. एसडीएम, पुलिस चौकी के जवान मौके पर पहुंचे. राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया. इस दौरान एसडीएम सुंदरनगर द्वारा बीबीएमबी और एनटीपीसी विद्युत परियोजनाओं से फोन करवाकर पानी बंद करवाया गया.

तीन घंटे की कड़ी मशक्कत, पानी का बहाव और स्तर कम होने पर पुलिस जवानों और स्थानीय लोगों द्वारा युवकों को निकलकर सुरक्षित स्थान पर लाया गया. युवकों की पहचान कमलेश कुमार (23) पुत्र जीतराम गांव लाघट डाकघर बरमाणा तहसील सदर जिला बिलासपुर, मोहित शर्मा (22) पुत्र मोहिंद्र नाथ गांव चंगर प्लासनी डाकघर कोठीपुरा तहसील सदरला बिलासपुर व संजीव कुमार (19) पुत्र रूपलाल गांव लाघट डाकघर बैरी राजादियां तहसील सदर बिलासपुर के रूप में हुई है. पुलिस ने तीनों युवकों के बयान कलमबंद करके उन्हें घर भेज दिया गया है.