दक्षिण कश्मीर से भी जल्द होगा हिजबुल मुजाहिद्दीन का खात्मा-DGP

0
118
views

श्रीनगर. हिजबुल आतंकियों के साथ DSP (निलंबित) दविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद सुरक्षाबलों ने सोमवार को 3 और आतंकियों को मार गिराया.

  • शोपियां में हुई मुठभेड़ में मार गिराए गए तीनों आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन (Hizbul Mjahideen) से थे.
  • ऑपरेशन खत्म होने के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस के महानिदेशक (DGP) दिलबाग सिंह ने कहा कि मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का सुप्रीम कमांडर वसीम अहमद वानी भी मारा गया है.
  • उन्होंने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सबसे अहम बात कहीं, DGP ने कहा कि हम दक्षिण कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के खात्मे के बेहद करीब हैं.
  • मीडिया से बात करते हुए डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया, ‘वसीम अहमद वानी दक्षिण कश्मीर में साल 2017 से सक्रिय था.
  • उसके खिलाफ 19 FIR दर्ज थे. वहीं, उसके साथ मारे गए दूसरे शख्स की पहचान आदिल शेख के तौर पर हुई है.
  • आदिल पहले स्पेशल पुलिस ऑफिसर (SPO) भी रह चुका है. वह शोपियां का रहने वाला था.

पुलिस की नौकरी छोड़ आतंकी बन गया था आदिल शेख
DGP ने ये भी बताया कि आदिल शेख कुछ साल पहले हिजबुल में शामिल हो गया था. 29 सितंबर 2018 को उसने श्रीनगर से तत्कालीन विधायक अजाज मीर के घर से 7 हथियार और एक पिस्टल भी लूटे थे. वहीं, तीसरे आतंकी की पहचान जहांगीर के तौर पर हुई. वह पुलवामा का रहने वाला था.

सही दिशा में चल रही दविंदर मामले की जांच
डीजीपी दिलबाग सिंह ने इस दौरान डीएसपी दविंदर मामले पर भी बात की. उन्होंने कहा कि मामला राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को ट्रांसफर किया गया है. जो नई बातें सामने आई हैं, एनआईए को बता दी गई है. दविंदर सिंह की कस्टडी भी जांच एजेंसी के पास है. फिलहाल जांच सही दिशा में चल रही है. जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी.