जानिए… अंग्रेजों का सिमला कैसे और कब बना शिमला

0
856
views

शिमला हिमाचल प्रदेश की राजधानी है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि शिमला से पहले इसका नाम सिमला था, आज हम आपको शिमला का इतिहास बताएंगे कि कैसे और क्यों हिमाचल प्रदेश की राजधानी सिमला से शिमला बन गई.

सिमला से शिमला की कहानी

  • शिमला में आने के बाद अंग्रेजो को पहाड़ इतने खूबसूरत लगे कि शिमला को ग्रीष्मकालीन राजधानी बना डाला
  • इसकी दूसरी वजह ये भी थी कि अंग्रेजो को शिमला अपने इंग्लैंड की तरह लगता था
  • लेकिन अंग्रेज शिमला के सही नाम का उच्चारण नहीं कर पाते थे
  • दरअसल वे शिमला को सिमला उच्चारण करते थे
  • यही वजह है कि अंग्रेजों के जाने के बाद भी अंग्रेजी भाषा में शिमला को सिमला ही लिखा जाता रहा
  • कई धरोहर इमारतों एवम पुरानी किताबों में शिमला का नाम सिमला ही है
  • 80 के दशक में हिमाचल सरकार ने इसका नाम बदलकर हिंदी में इसके बोलने के हिसाब से अंग्रेजी में भी शिमला लिखे जाने की अधिसूचना जारी की
  • तब से सिमला को अब शिमला लिखा और पढ़ा जाता है
  • मान्यता तो ये भी है कि 1845 में निर्मित काली बाड़ी मंदिर  जो मॉल रोड़ के पास स्थित है वह देवी श्यामला को समर्पित है उसी देवी के नाम से शिमला नाम पड़ा था

अंग्रेजों ने इस शहर को बसाया और संवारा

बताया जाता है कि शिमला को अंग्रेजों ने ना केवल बसाया बल्कि सजाया और संवारा भी था. उन्होंने इसे ऐसी संस्कृति दी है जो अन्य जगहों से इसे अलग बनाती है,  खास बात ये है कि अंग्रेजों ने शिमला में इंग्लैंड को जीने की कोशिश की थी. अंग्रेज शिमला में अपने घर जैसा महसूस करते थे. यही वजह रही कि धीरे-धीरे उन्होंने शिमला को अपनी जिंदगी के हिसाब से बदल लिया.