रांची टेस्ट जीतकर भारत ने रचा इतिहास, साउथ अफ्रीका का 3-0 से किया सफाया

0
108
views

टीम इंडिया ने देशवासियों को दिवाली का तोहफा दिया है. तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में विराट कोहली की सेना ने साउथ अफ्रीका का 3-0 से सूपड़ा साफ कर दिया है. मंगलवार को रांची टेस्ट के चौथे दिन भारत ने साउथ अफ्रीका को पारी और 202 रनों से रौंद दिया. भारत को टेस्ट सीरीज जीतने के बाद फ्रीडम ट्रॉफी सौंपी गई है.

रांची टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने अपनी पहली पारी 9 विकेट पर 497 रन बनाकर घोषित कर दी थी. जवाब में दक्षिण अफ्रीका अपनी पहली पारी में 162 रनों पर ऑलआउट हो गई. पहली पारी के आधार पर भारत को 335 रनों की बढ़त मिली. अफ्रीकी टीम फॉलोऑन नहीं बचा पाई, जिसके बाद उन्हें फिर से बल्लेबाजी के लिए उतरना पड़ा.

फॉलोऑन मिलने के बाद दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका 133 रन पर ढेर हो गई. इसी के साथ ही विराट ब्रिगेड ने महाजीत का तोहफा दे दिया. दक्षिण अफ्रीका के लिए थयूनिस डि ब्रूइन ने 30 और जॉर्ज लिंडे ने 27 रन बनाए. भारत के लिए मोहम्मद शमी ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए. शहबाज नदीम और उमेश यादव को 2-2 विकेट मिले.

दूसरी पारी में भी दक्षिण अफ्रीका के लिए स्थिति नहीं बदली और उसके विकेटों का पतन होता चला गया. पहले क्विंटन डि कॉक (5) को उमेश यादव ने बेहतरीन गेंद पर बोल्ड किया. इसके बाद मोहम्मद शमी ने पहली पारी में अर्धशतक जमाने वाले जुबैर हमजा को खाता खोले बिना बोल्ड कर मेहमान टीम का स्कोर 10 रनों पर दो विकेट कर दिया.

कप्तान फाफ डु प्लेसिस (4) भी शमी का शिकार बने. शमी ने टेम्बा बावूमा को भी खाता नहीं खोलने दिया. ऋद्धिमान साहा ने शमी की गेंद पर बावूमा का कैच पकड़ा. डीन एल्गर को उमेश यादव की एक गेंद हेलमेट पर जा लगी जिसके बाद वह रिटायर्ड हर्ट हो गए.

हेनरिक क्लासेन (5) को उमेश ने 36 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेज दिया. यहां से दक्षिण अफ्रीका की हार तय हो गई थी. उसके निचले क्रम ने हालांकि थोड़ा बहुत संघर्ष किया. जॉर्ज लिंडे ने 27 और डेन पीट ने 23 रन बनाए. कैगिसो रबाडा 12 रन बनाकर अश्विन का शिकार बने.

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 56.2 ओवरों में 162 रनों पर ढेर कर दिया. भारत ने अपनी पहली पारी नौ विकेट के नुकसान पर 497 रनों पर घोषित कर दी थी. इस लिहाज से भारत के पास 335 रनों की बढ़त है. भारत ने मेजबान टीम को फॉलोऑन दिया. दक्षिण अफ्रीका के लिए जुबैर हमजा ही भारतीय गेंदबाजों का कुछ हद तक सामने करने में सफल रहे. उन्होंने 79 गेंदों पर 10 चौके और एक छक्के की मदद से 62 रनों की पारी खेली.

अफ्रीका ने अपने दो विकेट केवल 9 रन पर ही खो दिए थे. मोहम्मद शमी ने डीन एल्गर (0) और उमेश यादव ने क्विंटन डि कॉक (4 रन) का विकेट लिया. उमेश यादव ने फाफ डु प्लेसिस को 1 रन पर बोल्ड किया. इसके बाद हमजा को टीम के उप-कप्तान टेम्बा बावूमा का कुछ साथ मिला और दोनों ने कुछ हद तक टीम को संभाला. इन दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 91 रनों की साझेदारी हुई. जडेजा ने 107 के कुल स्कोर पर हमजा को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ा.

अपना पदार्पण टेस्ट मैच खेल रहे शाहबाज नदीम ने अपनी फिरकी से इस साझेदारी के दूसरे सिपाही बावूमा को पवेलियन भेजा. हमजा के आउट होने के बाद अगले ओवर में नदीम की गेंद पर बावूमा चूक गए और ऋद्धिमान साहा ने उन्हें स्टम्पिंग करने में कोई गलती न करते हुए दक्षिण अफ्रीका को पांचवां झटका दिया. इसी के साथ नदीम ने टेस्ट में अपना विकेट का खाता खोला. इस मैच में टीम में आए हेनरिक क्लासेन सिर्फ छह रन बना सके.

विराट कोहली की सेना ने इस जीत के साथ ही इतिहास रच दिया है. विराट कोहली पहले कप्तान बन गए हैं जिनकी अगुवाई में टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका का टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप किया है. टीम इंडिया ने विशाखापत्तनम, पुणे टेस्ट में जीत हासिल करने के बाद साउथ अफ्रीका को रांची में भी चारों खाने चित कर दिया. बता दें टीम इंडिया ने अपनी सरजमीं पर 32 में से 26वां टेस्ट जीता है. टीम इंडिया साल 2012 से अपने घर पर टेस्ट सीरीज नहीं हारी है.