रांची टेस्ट: टीम इंडिया में हो सकता है एक बदलाव, इस खिलाड़ी की होगी टीम में वापसी!

0
209
views

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा और आखिरी मुकाबला शनिवार 19 अक्टूबर से रांची में खेला जाएगा. भारतीय क्रिकेट टीम ने सीरीज के शुरुआती दोनों मैच एकतरफा अंदाज में अपने नाम कर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है तो देखना दिलचस्प होगा कि तीसरे मुकाबले में टीम इंडिया प्लेइंग इलेवन में क्या बदलाव करेगी.

विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया ने विशाखापत्तनम में खेला गया पहला टेस्ट 203 रन से जीता था, जबकि पुणे में हुए दूसरे टेस्ट में टीम को एक पारी और 137 रन से जीत मिली थी.

टीम इंडिया की निगाहें अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ क्लीन स्वीप करने पर होगी. मगर रांची के झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में होने वाले मुकाबले में कप्तान विराट कोहली प्लेइंग इलेवन में बदलाव भी कर सकते हैं.

हालांकि एक तथ्य ये भी है कि चूंकि ये सीरीज वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है तो ऐसे में कप्तान कोहली किसी भी मैच को हल्के में लेने की भूल नहीं करेंगे. बावजूद इसके वे रांची टेस्ट के लिए टीम इंडिया में एक बदलाव करने का जोखिम तो उठा ही सके हैं. आइए जानते हैं कि इस टेस्ट के लिए टीम इंडिया के कौन से 11 खिलाड़ी मैदान में उतर सकते हैं. इनमें स्पिनर कुलदीप यादव की वापसी हो सकती है.

1. रोहित शर्मा : विशाखापत्तनम टेस्ट की दोनों पारियों में जबरदस्त शतक लगाने वाले ओपनर रोहित शर्मा भले ही पुणे टेस्ट की एकमात्र पारी में बड़ा स्कोर नहीं बना सके, लेकिन रांची में उनका मैदान में उतरना तय है. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि टीम मैनेजमेंट रोहित शर्मा को लगातार मौके दिए जाने की पुष्टि पहले ही कर चुका है. रोहित ने हाल ही में लंबे समय बाद टेस्ट क्रिकेट में वापसी की है और ऐसे में उन्हें बाहर बैठाने का सवाल ही नहीं उठता.

2. मयंक अग्रवाल : रोहित शर्मा के साथ मयंक अग्रवाल की ओपनिंग जोड़ी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है. मयंक अग्रवाल ने जहां विशाखापत्तनम टेस्ट में दोहरा शतक लगाया था, वहीं पुणे में भी शतकीय पारी खेली थी. ऐसे में उनकी जगह टीम में बिल्कुल पक्की है.

3. चेतेश्वर पुजारा : शीर्ष क्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा का सीरीज में प्रदर्शन अच्छा रहा है. हालांकि उनके बल्ले से बड़ी पारी का इंतजार अभी खत्म नहीं हुआ है और उम्मीद है कि रांची में उन्हें ये काम करने का मौका दिया जाएगा.

4. विराट कोहली : कप्तान विराट कोहली टीम इंडिया के लिए मोर्चे से अगुआई करते रहे हैं. पुणे टेस्ट में उन्होंने अपने टेस्ट करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए नाबाद 254 रन बनाए थे. इस प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार भी मिला था. वह इस मैच भी जीत दर्ज करने के लिए पूरा जोर लगा देंगे.

5. अजिंक्य रहाणे : टीम इंडिया के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने सीरीज में ठीक-ठाक प्रदर्शन किया है. पुणे टेस्ट में उन्होंने अहम अर्धशतक लगाया था. हालांकि वे इसे बड़ी पारी में नहीं बदल सके, लेकिन टीम इंडिया के मध्यक्रम को मजबूती देने के लिए उनका टीम में बने रहना महत्वपूर्ण है.

6. रवींद्र जडेजा : ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा गेंदबाजी और बल्लेबाजी में भारतीय क्रिकेट टीम के अभिन्न अंग बन चुके हैं. उन्होंने अपने हालिया प्रदर्शन से दिखा दिया है कि वे जरूरत पड़ने पर बल्ले से अहम योगदान दे सकते हैं और साथ ही गेंदबाजी में भी जलवा दिखाने में माहिर हैं. रांची में भी उनकी भूमिका बेहद अहम रहेगी.

7. ऋद्िधमान साहा : रांची टेस्ट में इस खिलाड़ी के चयन पर तो बिल्कुल भी संदेह नहीं है. साहा ने सीरीज के दोनों मैचों में दिखा दिया है कि आखिर देश-दुनिया के बड़े-बड़े दिग्गज क्यों उन्हें दुनिया का सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बता रहे हैं. खासकर पुणे में तो उन्होंने कई असाधारण और अविश्वसनीय कैच पकड़े.

8. रविचंद्रन अश्विन : टीम इंडिया के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने विशाखापत्तनम और पुणे दोनों टेस्ट में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों को काफी परेशान किया है. यहां तक कि दो टेस्ट के बाद वे सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी बने हुए हैं. रांची में भी टीम इंडिया की जीत का काफी दारोमदार अश्विन के कंधों पर होगा.

9. इशांत शर्मा : तेज गेंदबाज इशांत शर्मा इस सीरीज में अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके हैं. हालांकि कई बार उन्होंने बल्लेबाजों को दबाव में जरूर डाला, लेकिन उन्हें इस सीरीज में अधिक विकेट नहीं मिले हैं. हालांकि कप्तान विराट कोहली का उन पर भरोसा रांची टेस्ट में भी कायम रहने की पूरी उम्मीद की जा रही है.

10. मोहम्मद शमी : भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी तो मानो अपने करियर की सबसे सुनहरी फॉर्म में चल रहे हैं. उनके घातक स्पैल और बेहतरीन गेंदबाजी के बारे में हर कोई बात कर रहा है. मोहम्मद शमी इस सीरीज में दोनों टीमों की ओर से सबसे अधिक विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज हैं. खासकर उनकी रिवर्स स्विंग गेंदें तो कहर ढा रही हैं और रांची में भी उनके प्रदर्शन पर सभी की निगाहें होंगी.

11. कुलदीप यादव : रांची की पिच स्पिनरों की मददगार मानी जाती है. ऐसे में कप्तान विराट कोहली टीम इंडिया में जो एक बदलाव कर सकते हैं, वो उमेश यादव की जगह कुलदीप यादव को खिलाने का है. कुलदीप यादव नेट प्रैक्टिस में लंबा अभ्यास करते नजर आए थे, जिससे उम्मीद की जा रही है कि वे रांची टेस्ट की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा हो सकते हैं.