बढ़ेगी वायुसेना की ताकत, अमेरिका से 110 लड़ाकू विमान खरीदेगा भारत

0
1220
views

भारत अपनी आसमानी ताकत में जबरदस्त इजाफा करने जा रहा है. भारत और अमेरिका के    बीच दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य खरीद हो सकती है. भारत अमेरिका से 110 लड़ाकू विमानों को खरीदने जा रहा है. माना जा रहा है कि ये हाल के सालों में दुनिया की सबसे बड़ी डिफेंस डील है. बताया जा रहा है कि यह डील करीब 1.25 लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा की है.

अपनी क्षमता को बढ़ाने के लिए वायु सेना लड़ाकू विमान बेड़े को खरीदने पर जोर दे रही है. बता दें, पांच साल पहले वायु सेना के लिए 126 मध्यम बहु भूमिका लड़ाकू विमान (एमएमआरसीए) की खरीद प्रक्रिया को रद्द कर दिया गया था.  उस डील के रद्द हो जाने के बाद लड़ाकू विमानों के लिए यह पहला बड़ा सौदा होगा. एनडीए सरकार ने सितंबर 2016 में 36 राफेल दोहरे इंजन वाले लड़ाकू विमानों की खरीदने का सौदा किया था. फ्रांस सरकार के साथ 7.87 अरब यूरो (करीब 59000 करोड़ रूपये) का सौदा तय हुआ है.

सूत्रों की मानें इससे पहले एयरफोर्स ने MiG-21, MiG-27 को बदलने का निर्णय किया था, जो अगले चार से पांच साल में रिटायर होने वाले हैं. इस प्रक्रिया में अमेरिका, स्वीडन, रूस जैसे देश शामिल हो सकते हैं. बता दें कि एयरफोर्स की ओर से दो फ्रंट पर लड़ाई को लेकर तैयारी की जा रही है.

2019 की शुरुआत से ही वायुसेना को दो स्क्वाड्रॉन मिलने शुरू हो जाएंगे. संसद में सरकार के जवाब के अनुसार, भारतीय वायुसेना 2020 तक 32 लड़ाकू स्क्वाड्रॉन और 39 हेलिकॉप्टर की यूनिट मिल जाएंगी. गौरतलब है कि 10 स्क्वाड्रॉन जिसमें MiG-21 और MiG-27 भी शामिल हैं 2024 तक रिटायर हो रहे हैं.