ITBP का 56वां स्थापना दिवस, राजनाथ सिंह ने लिया कार्यक्रम में हिस्सा

0
1199
views
ITBP का 56वां स्थापना दिवस, राजनाथ सिंह ने लिया कार्यक्रम में हिस्सा

ग्रेटर नोएडा स्थित भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की 39वीं बटालियन में आयोजित कार्यक्रम में मंगलवार को होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह शिरकत करने पहुंचे। यहां उन्होंने कहा, ”यहां की शानदार परेड को अगर कोई बेहोश व्यक्ति भी देखता तो उसके अंदर भी सिर्फ होश ही नहीं पैदा होगा, बल्कि कुछ कर गुजरने का जज्बा भी उजागर होगा। इस अवसर पर मैं उन वीरों को याद करना चाहता हूं, जिन्होंने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है। उनकी शहादत बराबर हम सभी को कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ने की प्रेरणा देती रहेगी।”

– होम मिनिस्टर ने कहा, ”9 हजार से लेकर 18 हजार फीट से ज्यादा तक की ऊंचाई वाले इलाके में भारत-चीन की सीमाओं की निगरानी की जिम्मेदारी इनके ही कंधों पर है।”
– ”कठिन परिस्तिथियों में भी पूरी निष्ठा से देश की सीमाओं की रक्षा करते हैं, इसका अनुमान दिल्ली में बैठकर कोई नहीं लगा सकता है।”
– ”मैं खुद कुछ भारत-चीन की चौकियों पर गया हूं। माइनस 40 डीग्री तापमान में ऑक्सीजन की कमी से सांस लेने से कठिनाई होती है, उसके बावजूद आप अपनी जिम्मेदारियों को पूरी निष्ठा से निभाते हैं। इसी वजह से देशवासी चैन की नींद लेते हैं।”
– ”आइटीबीपी के जवानों की भूमिका बहुयामी है। नक्सलवादियों और उग्रवादियों के हौसले पस्त करने के काम करते हैं।”
– ”बॉर्डर आउट पोस्‍ट्स से अरुणाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड और हिमाचल प्रदेश को जोड़ने की योजना है। इसके लिए इन क्षेत्रों में 25 नई सड़कें भी बनाई जाएंगी।”
– ”चाहे कितनी भी सुविधाएं क्यों न मुहैया न करा दी जाएं, वो अपने पर्याप्त कदापि नहीं कहीं जा सकती।”
– ”हमारी सरकार फोर्स की कैपेबिलिटी और उसका इन्फ्रा स्ट्रकचर बढ़ाने में काम कर रही है। हाल ही में 50 नई बीओपी बनानें का प्रस्ताव गृह मंत्रालय को मिला है। इस संबंध में भी निर्णय किया जाएगा।”
– ”कुछ कंसलटेंट को भी बुलाया गया है, जिनकी मदद से जवानों की हाउसिंग के लिए सुविधा मुहैया कराई जा सकती है। इसके बारे में भी विचार किया जा रहा है।”
– ”लद्दाख में कड़ाके की ठंड में भी बीओपी पर 20 डीग्री तापमान सुनिश्चित करने के लिए एक मॉडल बीओपी भी बनाई जा रही है। अगर ये सफल रहता है तो इसी तरह की और बीओपी लगाई जाएंगी।”
– ”सरकार ने पेट्रोलिंग के लिए स्नो स्कूटर की सुविधा भी मुहैया करना प्राम्भ कर दिया है। अभी इसकी कमी है, जिसकी पूर्ति जल्द ही की जाएगी।”
– वहीं, आइटीबीपी के डीजी आरके पचनन्दा ने बताया कि जल्‍द ही आइटीबीपी एक इंटेलिजेंस स्‍कूल भी जल्‍द खोलने जा रही है।