जम्मू-कश्मीर : 24 घंटे में सुरक्षाबलों का आतंकियों पर कड़ा प्रहार, 9 आतंकी ढेर, एक जवान शहीद

0
356
views

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सेना ने रविवार को बड़ी कार्रवाई की और एक मुठभेड़ में 5 आतंकियो को मार गिराया. सेना की यह कार्रवाई तलाशी अभियान के पांचवें दिन हुई जिसमें कुपवाड़ा के जंगलों में आतंकवादियों की खोज-बीन की जा रही थी.

  • इस अभियान के दौरान रविवार सुबह नियंत्रण रेखा के पास जंगलों में रंगदोरी बहक इलाके में सेना व आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गई.
  • इस कार्रवाई में 5 आतंकियों के मारे जाने की खबर है. पिछले 24 घंटे में 9 आतंकी मारे गए हैं. इस कार्रवाई में सेना का एक जवान भी शहीद हो गया है.
  • गुगुलदारा तीन बहक इलाके में सेना की 8 जाट रेजिमेंट ने तलाशी अभियान चलाया था.
  • सेना को पता चला था कि इस इलाके के आसपास आतंकियों का एक समूह घुस गया है जो मौका मिलते ही हमला करने की फिराक में है.
  • बुधवार को भी सेना ने तलाशी शुरू की थी जब दोनों ओर से कुछ गोलीबारी की खबरें आई थीं. रविवार को यह अभियान और तेज हो गया जिसमें मुठभेड़ के बाद आतंकवादी मारे गए.
  • रिपोर्ट के मुताबिक, आतंकियों की तलाश में जंगल के ऊपर हेलिकॉप्टर उड़ते देखे गए. सेना ने इस कार्रवाई में हवाई अभियान भी चलाया क्योंकि जंगल घने हैं और आतंकियों को ढूंढना मुश्किल काम है.
  • एक सूत्र ने बताया, हाल में रंगदोरी बहक इलाके में ताजा गतिविधि की सूचना मिली जिसके बाद कार्रवाई शुरू की गई. खबर लिखे जाने तक दोनों ओर से फायरिंग जारी है.
  • सूत्र ने यह भी बताया कि सेना एक संयुक्त अभियान में अवाउरा, कुमकदी, जुरहुमा, साफावली, बाटपोरा, हैहामा इलाके में तलाशी अभियान चला रही है.
  • इस संयुक्त अभियान में आर्मी की 41 आरआर, 57 आरआर, 160 टीए और एसओजी कुपवाड़ा की टीमें शामिल हैं.
  • रविवार सुबह तक जंगल से 5 शव बरामद किए गए हैं. सेना का अभियान लगातार जारी है.

इससे पहले 4 अप्रैल को दक्षिण कश्मीर के बटपुरा इलाके में 4 आतंकियों को सेना ने ढेर किया था जो एक नागरिक की हत्या में शामिल थे. केरन सेक्टर में सेना ने इन आतंकियों को घेर लिया और कार्रवाई शुरू कर दी. ये आतंकी जंगल का इलाका पार कर कश्मीर के अंदर घुसना चाह रहे थे लेकिन सेना ने इनके मंसूबे नाकाम कर दिए. इस कार्रवाई में सेना का एक जवान शहीद हो गया, जबकि 2 गंभीर रूप से घायल हैं. जख्मी जवानों को घटनास्थल से निकालने में मुश्किल आई क्योंकि भारी बर्फबारी हो रही है. हालांकि अब उन्हें अस्पताल में पहुंचा दिया गया है.