JJP को पार्टी के रूप में मिली मान्यता, चुनाव चिन्ह के लिए आयोग ने लगाई शर्त

0
221
views

दुष्‍यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी को चुनव आयोग ने राजनीतिक दल के रूप में पंजीकृत कर लिया है। इसके साथ ही उसे चुनाव निशान नहीं मिला है। चुनाव चिह्न के लिए आयोग ने बड़ी शर्त लगा दी है। इसके लिए पार्टी को लोकसभा चुनाव में हरियाणा के 10 सीटों में से आधी यान‍ि पांच पर अपने उम्‍मीदवार मैदान में उतारने पड़ेेेंगे

बता दें कि पिछले दिनों हुए जींद विधानसभा सीट के उपचुनाव में पार्टी का अधिकृत चुनाव चिह्न नहीं होने के चलते दिग्विजय चौटाला को निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरना पड़ा। लोकसभा चुनाव में जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के उम्मीदवारों को लोकसभा चुनाव में एक समान चुनाव चिह्न मिल सकते हैं। लेकिन, चुनाव आयोग ने इसके लिए न्यूनतम पांच संसदीय सीटों पर उम्मीदवार उतारने की शर्त लगाई है। इससे कम उम्मीदवारों की स्थिति में सभी पार्टी प्रत्याशियों को निर्दलीय मानते हुए अलग-अलग चुनाव चिह्न दिए जाएंगे.

चुनाव आयोग ने जेजेपी को राजनीतिक दल के रूप में पंजीकृत करते हुए यह शर्त लगाई है। इनेलो से अलग होने के बाद सांसद दुष्यंत चौटाला ने 29 नवंबर 2018 को चुनाव आयोग में जननायक जनता पार्टी के नाम से नई पार्टी का रजिस्ट्रेशन करने के लिए आवेदन किया था.

इसके साथ ही चुनाव आयोग ने कहा है कि नई पार्टी को कोई झंडा नहीं दिया जा सकता। अगर उसने अपना कोई झंडा निर्धारित किया है तो यह उसकी अपनी जिम्मेदारी होगी। फ्लैग कोड के उल्लघंन पर अगर कोई सियासी दल उसके झंडे को चुनौती देता है तो यह नई पार्टी की जिम्मेदारी होगी।