J&K : खारदुंगला के बर्फीले तुफान में फंसे 7 पर्यटकों के शव बरामद, 3 की तलाश जारी

0
247
views

जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में भारी हिमस्खलन हुआ था, जिसमें दबे 10 में से 7 लोगों के शव निकाले जा चुके है.कई वाहन में 10 लोगों के होने की आशंका जताई जा रही है. वहीं, इस घटना की जानकारी मिलने ही भारतीय सेना की टीम घटनास्थल पर पहुंची और राहत व बचाव अभियान शुरू किया. हालांकि मौसम में हो रहे पल-पल बदलाव की वजह से सेना को राहत और बचाव काम में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

  • लद्दाख समेत पूरे जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में बर्फीले तूफान का तांडव जारी है.
  • बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे लद्दाख के खारदुंगला में बीच सड़क पर बर्फ का पहाड़ गिर गया, जिसकी चपटे में कई पर्यटक आ गए.
  • खारदुंगला दर्रे पर यह दुनिया की सबसे ऊंची सड़क है, जहां तापमान माइनस 15 से भी कम है.
  • बर्फ में कई पर्यटकों के दबे होने की बात कही जा रही है.
  • इसके अलावा बर्फीले तूफान में भी कई लोग फंसे हुए हैं, जिनको बचाने की कोशिश जारी है.
  • इस हिमस्खलन की चपेट में आए पर्यटकों के बारे में अभी तक कुछ जानकारी नहीं मिल पाई है.
  • वहीं, मौसम विभाग ने कश्मीर घाटी और हिमाचल प्रदेश में अगले दो दिन में जमकर बर्फबारी जारी रहने का पूर्वानुमान जताया है.
  • सेना और पुलिस के जवान बर्फ में दबे लोगों को तलाश रहे हैं. इससे पहले 3 जनवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में हिमस्खलन में एक जवान शहीद हो गया था, जबकि एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया था.
  • इस घटना के वक्त ये दोनों जवान जवान जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर के सब्जियान क्षेत्र में स्थित सेना की पोस्ट में तैनात थे.

आपको बता दें कि कश्मीर घाटी में हिमस्खलन की घटनाएं अक्सर सामने आती रहती हैं. पिछले साल तंगधार, माछिल जैसे इलाकों में हिमस्खलन और बर्फीले तूफान ने कई लोगों की जान ले ली थी. हिमस्खलन और बर्फीले तूफान में जान गंवाने वालों मे भारतीय सेना के जवान भी शामिल हैं. सर्दी के महीनों में कश्मीर घाटी में तापमान -10 से लेकर -50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है. यहां 40 दिनों तक चलने वाले भीषण ठंड के मौसम‘चिल्लई कलां’ का दौर जारी है. यह 31 जनवरी तक चलेगा. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि 22 जनवरी को मूसलाधार बारिश और भीषण बर्फबारी होने का पूर्वानुमान है.