J&K पुनर्गठन बिल संसद में पास हुआ, बिल के पक्ष में 370, विरोध में 70 वोट पड़े

0
124
views

जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल संसद से पास हो गया है. लोकसभा ने बिल को मंजूरी दी गई. बिल के पक्ष में 370 और विपक्ष में सत्तर वोट पड़े. इस बिल को राज्यसभा ने सोमवार को मंजूरी दी थी. लोकसभा ने जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019, अनुच्छेद 370 हटाने संबंधी संकल्प को मंजूरी दी गई. पुनर्गठन विधेयक में जम्मू-कश्मीर को 2 केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांटने का प्रावधान किया गया है.

लोकसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि वहां वोट का अधिकार नहीं दिया गया, मानवाधिकार कहां गया. कश्मीरी पंडितों को घर छोड़ना पड़ा क्या मानवाधिकार था. अनुच्छेद 370 हटाए जाने का विरोध करने वाले दलित, महिला, आदिवासी, शिक्षा के विरोधी हैं.

अमित शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद कश्मीर में इंडस्ट्री खुलेंगी, रोजगार मिलेंगे. जमीन की कीमतें बढ़ेंगी, पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा. जम्मू-कश्मीर पृथ्वी का स्वर्ग था, है और रहेगा. उसे कोई खत्म नहीं कर सकता है. अमित शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 से क्या मिला, सिर्फ तीन परिवारों का भला हुआ है. अलगाववाद को बढ़ावा मिला, युवाओं का भला नहीं हुआ.

गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में कहा कि अनुच्छेद 370 की अधिकतर धाराओं को समाप्त करके सरकार ऐतिहासिक भूल का सुधार करने जा रही है. गृह मंत्री ने सदन को आश्वासन दिया कि स्थिति सामान्य होते ही जम्मू कश्मीर का पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने में सरकार को कोई परेशानी नहीं है.