ट्रूडो की डिनर पार्टी में दिखा खालिस्तान समर्थक जसपाल अटवाल, बढ़ा विवाद

0
171
views

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की डिनर पार्टी विवादों में घिरती दिख रही है. मुंबई में मंगलवार रात आयोजित इस पार्टी में खालिस्तान समर्थक जसपाल अटवाल भी देखा गया. ट्रूडो के परिवार ने जसपाल के साथ तस्वीर भी खिंचवाई. जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है.

विवाद बढ़ने पर कनाडा के हाई कमिशन ने दिल्ली में होने वाले डिनर में जसपाल अटवाल का इन्विटेशन रद्द कर दिया. जसपाल अटवाल प्रतिबंधित इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन में एक्टिव रह चुका है. डिनर के दौरान उसने कनाडा पीएम की पत्नी सोफी ट्रूडो और लिबरल कैबिनेट मिनिस्टर अमरजीत सोही के साथ तस्वीरें भी खिंचवाई.

जसपाल अटवाल वैंकुवर में भारतीय कैबिनेट मंत्री मल्कियत सिंह सिद्धू की हत्या की कोशिश में दोषी रह चुका है. वो उन चार लोगों में से एक था जिन्होंने सिद्धू की कार पर गोली चलाई थी. एक रिपोर्ट के मुताबिक अटवाल ऑटोमोबाइल फ्रॉड में भी शामिल रह चुका है. लेकिन वो दोषी साबित नहीं हुआ था. 1985 में सिख अलगाववाद मूवमेंट के विरोधी उज्जल दोसांझ पर हमले के मामले में भी शामिल था.

इस पूरे मामले पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कनाडा ने उसे दिया आमंत्रण कैंसल कर दिया है, लेकिन उसे वीजा कैसे मिला यह पता नहीं चल पाया है. विदेश मंत्रालय ने कहा है कि वह दोषी साबित हो चुके खालिस्तानी आतंकवादी जसपाल अटवाल को वीजा जारी करने के मामले में अपने मिशन से जानकारी हासिल कर रहा है.

वहीं कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने कहा कि हम इस मामले को पूरी गंभीरता से ले रहे हैं. ट्रूडो ने कहा कि अटवाल को आमंत्रित करना एक भूल थी जिसे सुधारा लिया गया. ट्रूडो ने कहा कि कनाडा और भारत डिमॉक्रेसी की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध देश हैं, दोनों देश दुनिया की बड़ी डिमॉक्रेसी में से एक है.

गौरतलब है कि अमृतसर में बुधवार को जस्टिन ट्रूडो और पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह की मुलाकात हुई थी. इस दौरान दोनों के बीच खालिस्तान के मुद्दे पर भी चर्चा हुई. मुलाकात के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था, ‘ट्रूडो ने आश्वासन दिया है कि वह इस मामले पर विचार करेंगे.’