हरियाणा में फिर पहुंचा टिड्डियों का दल, किसानों ने दिखाई मुस्तैदी

0
159
views
TOPSHOT - Farmers try to scare away a swarm of locusts from a field on the outskirts of Sukkur in southern Sindh province on July 1, 2020. - Farmers are struggling as the worst locust plague in 25 years wipes out entire harvests in Pakistan's agricultural heartlands, leaving people scrambling for income. (Photo by Shahid ALI / AFP) (Photo by SHAHID ALI/AFP via Getty Images)

हरियाणा में टिड्डियों के दल ने एक बार फिर धावा बोला। क्षेत्र में टिड्डियों का बड़ा दल पहुंचा, लेकिन किसानों ने मस्‍तैदी बरतते हुए उनको राजस्‍थान की ओर भगा दिया। दरअसल कपास और बाजरे की फसल से क्षेत्र हरा भरा दिखाई दे रहा है, खेतों में चारों और हरियाली ही नजर आ रही है। ऐसे में किसानों की मुसीबत लगातार बढ़ती जा रही है। यहां हरियाणा देखकर राजस्थान से सटे क्षेत्र में टिड्डी दल का पहुंच जाता है। किसानों और कृषि विभाग की टीमें अलर्ट रहीं।

गुरुवार को एक बार फिर टिड्डी दल गांव झांझड़ा में पहुंच गया था, लेकिन किसानों ने ट्रैक्टरों और पीपों आदि की आवाज के शोर से दल को भगा दिया। यह टिड्डी दल वापस राजस्थान की ओर चला गया। इसके बाद किसानों और कृषि विभाग के अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

टिड्डियों के दल से भटकी हजारों की संख्या में टिड्डियां क्षेत्र के खेतों में अभी भी देखी जा रही हैं। इनको देखकर किसानों की चिंता लगातार बढ़ती जा रही है। किसान इस समय दिन और रात अपने खेतों की निगरानी करने में जुटे हुए हैं।गुरुवार को क्षेत्र के गांव झांझड़ा, गिगनाऊ, पोटिया, बरालू और दमकोरा, गोठड़ा, ङ्क्षसघानी, सेहर आदि गांव के खेतों में फसल पर मंडराता दिखा। टिड्डी के इस छोटे दल को देख कर किसान दिन-रात अपने खेतों की निगरानी में जुटे हुए हैं। कृषि अधिकारी चंद्रभान श्योराण का कहना है कि अभी तक क्षेत्र की किसी भी फसल में कोई नुकसान की रिपोर्ट नहीं है। उन्होंने बताया कि टिड्डी से निपटने के लिए कृषि अधिकारी, प्रशासन और किसानों ने कमर कस रखी है।