देश के इन राज्यों में आज तेज बारिश की संभावना,मानसून की सक्रियता बढ़ी

0
186
views

अगले कुछ घंटों में हरियाणा के करनाल, यूपी के नजिबाबाद, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, खतौली, हस्तिनापुर और चांदपुर में गरज के साथ बारिश हो सकती है। इस बीच दिल्ली-एसनीआर में उमस का सिलसिला जारी है। लोग भारी गर्मी और उमस से बेहाल हैं। मौसम विभाग ने कहा है कि अगले तीन-चार दिनों तक बारिश की संभावना नहीं है।

मौसम विभाग के अनुसार पूर्वोत्तर भारत और पूर्वी भारत में अगले पांच दिनों तक व्यापक बारिश होने की संभावना है। पूर्वोत्तर बिहार में मानसून 3 जुलाई तक सक्रिय रहेगा। इस दौरान राज्य के अधिकांश जिलों में भारी बरिशा का अलर्ट मौसम विभाग ने जारी किया है। मौसम विभाग ने बारिश के साथ ही वज्रपात की भी संभावना जताई है। बिहार में इस बार मानसून समय से तीन दिन पहले आया है और अभी तक राज्य में सामान्य से 92 फीसदी अधिक बारिश हुई है।

इसके साथ ही मध्य भारत में मानसून की सक्रियता बढ़ गई है। मध्य भारत के साथ पश्चिमी तटीय इलाकों में बारिश की गतिविधियां लगातार बढ़ती जा रही है। महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और गोवा के तटीय भागों में खासतौर पर बारिश की गतिविधियां बढ़ रही हैं। ऐसे में मध्य भारत के भागों में महाराष्ट्र में अधिकांश जगहों पर बारिश की गतिविधियां जारी रहेंगी। अगले चौबीस घंटे में गुजरात में बारिश के आसार हैं।

केरल और दक्षिण तमिलनाडु में बारिश की संभावना कम है। हालांकि कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है। आंध्र प्रदेश के उत्तरी तटीय इलाकों में बारिश की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में पिछले दो दिनों से मानसून की सक्रियता काफी कम हुई है। हालांकि इन राज्यों के कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हो सकती है। अब पूर्वोत्तर भारत के राज्यों में मूसलाधार बारिश की संभावना नहीं है।

बारिश की बाट जोह रहे लोगों को राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार दो दिन के बाद प्रदेश में मानसून फिर सक्रिय होगा और तीन-चार दिन लगातार कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश की संभावना है। इससे उमस भरी गर्मी से निजात मिलेगी। जून में इस बार बीते तीन-चार सालों के मुकाबले अच्छी बारिश रिकॉर्ड की गई है। उत्तर प्रदेश में 30 जून तक सामान्य 95 मिलीमीटर बारिश के मुकाबले 139.9 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि बीते वर्ष मात्र 37 मिलीमीटर बारिश ही 30 जून तक दर्ज की गई थी। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता बताते हैं कि तीन जुलाई से बारिश के जोर पकड़ने की उम्मीद है। इसके बाद अगले तीन-चार दिन तक प्रदेश में कहीं हल्की तो कहीं तेज बारिश का दौर जारी रहेगा। गुरुवार को राजधानी में आंशिक बदली रहेगी। बौछारें भी पड़ सकती हैं।