MI-17 हेलिकॉप्टर ने किया मनाली-लेह मार्ग पर पहला टनल सर्वे

0
54
views

हिमाचल प्रदेश में रणनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण मनाली-लेह मार्ग पर रोहतांग टनल के अलावा तीन अन्य टनलों को बनाया जा रहा है. इसके लिए देश में पहली बार वायुसेना के एमआई-17 हेलीकॉप्टर से जियोलॉजिकल सर्वे किया जा रहा है. वहीं, इसको लेकर कुल्लू और मंडी जिले की सीमा पर भुंतर और नगवाईं के आसपास हेलीकाप्टर से ट्रायल किया गया. आज एमआई-17 हेलीकाप्टर लाहौल के उन क्षेत्रों में जाएगा, जहां टनलों का निर्माण होगा. सूत्रों के अनुसार लेह-लद्दाख पहुंचने के लिए सेना अब इसी सड़क का ज्यादा इस्तेमाल करने जा रही है.

 

बीते कल दिनभर हेलीकाप्टर भुंतर और नगवाईं के आसपास घूमता रहा. चीन और पाकिस्तान से सटे इलाकों में 12 महीने यातायात सुचारु रखने के लिए केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने यह कवायद शुरू की है. मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड और वायु सेना ने तीन सुरंगों के लिए भू-भर्गीय सर्वेक्षण शुरू किया है.

 

इसमें एक विदेशी एंटीना की सहायता ली जा रही है. मंगलवार को सफल ट्रायल के बाद अब हेलीकाप्टर आज लाहौल घाटी में सर्वे करेगा. भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण कुल्लू-मनाली एयरपोर्ट के निदेशक नीरज कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि इस सर्वे में टनलों के भू-भर्गीय सर्वे के लिए कुल्लू-मनाली हवाई अड्डे की एक टीम वायु सेना का सहयोग कर रही है. उन्होंने का कि इस तरह का सर्वेक्षण भारत में पहली बार किया जा रहा है.