वेब पोर्टल पर लाखों लोगों ने जताई हरियाणा लौटने की इच्छा

0
129
views

हरियाणा सरकार के वेब पोर्टल पर एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने राज्य में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है. हरियाणा लौटने की इच्छा जाहिर करने वाले ज्यादातर प्रवासी मजूदर उत्तर प्रदेश और बिहार से हैं.

लॉकडाउन और उससे पहले हरियाणा से लौट चुके प्रवासी मजूदरों न एक बार फिर से हरियाणा वापस आने की इच्छा जताई है. पूरे देश में लॉकडाउन के चलते जहां प्रवासी मजदूरों का पलायन लगातार जारी है

इसी बीच हरियाणा में इसका उलटा दिखाई दे रहा है. हालांकि हरियाणा में रह रहे बहुत से प्रवासी मजदूर अपने घर लौटना चाहते हैं और सरकार द्वारा उन्हें स्पेशल ट्रेनों से वापस भी भेजा जा रहा है. इस बीच यूपी-बिहार से एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है.

अब सवाल ये उठ रहा है कि लॉकडाउन के बीच इन प्रवासी मजूदरों को लौटने देगी या नहीं. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस कि रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा सरकार के वेब पॉर्टल पर एक लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने राज्य में काम पर लौटने के लिए आवेदन किया है.

हरियाणा लौटने की इच्छा जाहिर करने वाले प्रवासी मजूदर उत्तर प्रदेश और बिहार से हैं. आंकड़ों के अनुसार, जिन 1.09 लाख प्रवासी मजदूरों ने हरियाणा काम पर लौटने की इच्छा जाहिर की है, उनमें 79.29 फीसदी गुरुग्राम, फरीदाबाद, पानीपत, सोनीपत, झज्जर, यमुनानगर और रेवाड़ी लौटना चाहते हैं.

जिन लोगों हरियाणा काम पर लौटने की इच्छा जाहिर की है उनमें 50 हजार से ज्यादा अकेले गुरुग्राम आना चाहते हैं. बता दें कि हरियाणा में सबसे ज्यादा इंडस्ट्री और बिजनेस ईकाइयां इन्हीं जिलों में है. हरियाणा के मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी बताया कि यदि प्रवासी मजदूर हरियाणा आना चाहते तो हम उन्हें वापस लाने का इंतजाम करेंगे.

राज्य में औद्योगिक गतिविधियां पहले ही शुरू हो चकी हैं. हरियाणा सीआईडी चीफ अनिल कुमार राव ने कहा कि ये वो लोग है जो काम करने के लिए वापस आना चाहते हैं. इसके अलावा कुछ लोग यहां अपने रिश्तेदार से मिलने के लिए आना चाहते हैं.