पूर्वोत्तर के असम, त्रिपुरा और मणिपुर में बाढ़ से अब तक 17 लोगों की मौत

0
326
views

पूर्वोत्तर भारत में भारी बारिश के साथ यह समस्या बढ़ती जा रही है. असम, त्रिपुरा और मणिपुर में लोग बाढ़ से जूझ रहे हैं. पिछले 48 घंटों में भारी बारिश और बाढ़ से पूर्वोत्तर राज्यों में 17 लोगों की जान चली गई है. हजारों लोग बेघर हो चुके हैं. ट्रेन और बाकी सेवाएं भी बाधित हो गई हैं.

असम के राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में बाढ़ और भूस्खलन से कछार जिले में 2, होजाई और दीमा हसाओ में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है. प्रदेश में अब तक कुल 7 मौत हो चुकी हैं. राज्य के 716 गांव पूरी तरह पानी में डूबे हुए और करीब 3292 हेक्टेयर फसल खराब हो गई है. कई जगह सड़कें टूट गई हैं और जगह-जगह भूस्खलन से ट्रेन सेवाएं ठप हैं. राजधानी गुवाहाटी में भी 3 जगह भूस्खलन की सूचना है.

वहीं मणिपुर के राहत एवं आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, मणिपुर में बाढ़ से सात लोगों की मौत हो गई है. 1.8 लाख से भी अधिक लोग अभी तक बाढ़ से प्रभावित हो चुके हैं. 5 हजार लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में ले जाया गया है. अब तक करीब 22,624 मकान क्षतिग्रस्त हो चुके हैं, जिसके चलते 48 नए राहत शिविर लगाने पड़े हैं. प्रमुख मार्गों पर यातायात भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है.

उधर, त्रिपुरा में बाढ़ की वजह से तीन लोगों की जान जा चुकी है. 189 राहत शिविरों में 40 हजार से ज्यादा लोग फंसे हैं. करीब 189 राहत शिविरों में 40 हजार से ज्यादा लोगों ने शरण ले रखी है. मिजोरम के लुंगलेई जिले में अब भी 500 परिवार बेघर हैं और सैकड़ों मकान पानी में डूबे हुए हैं. बाढ़ के कारण नेशनल हाईवे का सौ मीटर लंबा हिस्सा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है.