एक महीने तक ऐसे ही रूलाएगा प्याज, इस महीने में मिलेगी महंगाई से राहत

0
70
views

नासिक में बारिश से तबाह हुई फसल के कारण देशभर में प्याज की आपूर्ति में भारी कमी आ गई है. हालात ये हैं कि अफगानिस्तान से प्याज मंगवाने के बावजूद मांग पूरी नहीं हो पा रही है. इसका पूरा असर प्याज के थोक व रिटेल दामों पर पड़ा है.

 

नवंबर की शुरुआत में प्याज का दाम रिटेल में 90 रुपये तक पहुंच गया था. इसका संज्ञान लेते हुए केंद्र सरकार ने अफगानिस्तान से प्याज मंगवाकर देश भर की मंडियों में भेजा था. नवंबर के मध्यांतर में थोक के दामों में भारी गिरावट हुई. हालांकि रिटेल में दुकानदारों ने मनमाने दामों पर बिक्री जारी रखी. वहीं, अब आपूर्ति में कमी होने के बाद एक बार फिर से दाम सातवें आसमान पर है. नासिक का प्याज थोक मंडी में 60 रुपये तो रिटेल में 70 से 80 रुपये प्रति किलो बेचा जा रहा है. यह स्थिति अभी करीब एक माह तक ऐसी ही बनी रहेगी.

इन दिनों केवल अलवर से ही प्याज की सप्लाई हो रही है. कर्नाटक, तमिलनाडू, आंध्र प्रदेश व पश्चिम बंगाल में नासिक से प्याज की सप्लाई की जाती थी. इस बार वहां फसल तबाह होने के कारण अलवर से ही प्याज की सप्लाई हो रही है. यही कारण है कि मांग तथा उत्पादन में असमानता आने का असर दामों पर पड़ा है.