सिर्फ 13 से 75 साल की उम्र के श्रद्धालु ही कर सकते हैं दर्शन, करतारपुर जाने के ये है पूरे नियम

0
130
views

करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर बनकर तैयार है. 9 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान की तरफ से वहां के पीएम इमरान खान कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. इसके बाद से यहां तीर्थयात्रा शुरू हो जाएगी. बाबा नानक के 550वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर पाकिस्तान जाने के इच्छुक श्रद्धालुओं के लिए प्रदेश में 700 से ज्यादा सेवा केंद्रों पर फॉर्म मुफ्त में उपलब्ध हैं. श्रद्धालुओं को किन-किन बातों का ध्यान रखना होगा, जिससे रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी हो. आप वहां कितनी देर रह सकते हैं, क्या लेकर जा सकते हैं. ये है पूरी जानकारी.

प्रति श्रद्धालु 20 डॉलर की फीस देनी होगी

  • भारत से यात्रा की मंजूरी मिलने के बाद श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने के लिए 20 डॉलर यानी करीब 1400 रुपए का शुल्क देना होगा.

9 और 12 नवंबर को फीस नहीं लगेगा

  • गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर 9 और 12 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर से गुरुद्वारा साहिब जाने वाले श्रद्धालुओं को शुल्क नहीं देना होगा.पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इसकी घोषणा की है.

क्या लेकर जा सकते हैं और कब तक रह सकते हैं?

  • लुधियाना के सेवा केंद्र डिवीजनल मैनेजर साहिल अरोड़ा ने बताया कि करतारपुर साहिब गुरुद्वाराजाने की पहली शर्त उम्र की है. 13 साल से 75 साल तक के श्रद्धालु ही पवित्र यात्रा पर जा सकते हैं.
  • किसी भी धार्मिक मान्यता से ताल्लुक रखने वाला भारतीय नागरिक पाकिस्तान के करतारपुर साहिब जा सकता है.लेकिन खास शर्त ये है कि अगर वे कॉरिडोर से गए तो फिर करतारपुर साहिब से आगे नहीं जा सकेंगे. इसके अलावा श्रद्धालुओं को उसी दिन शाम तक वापस आना होगा.
  • श्रद्धालु अपने साथ 7 किलो से ज्यादा वजन का सामान नहीं ले जा सकते हैं. यात्रा के दौरान 11,000 रुपए से ज्यादा की भारतीय करंसी भी अपने पास नहीं रख सकते हैं.

खुद ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के कुछ जरूरी स्टेप्स

  • खुद से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए https://prakashpurb550.mha.gov.in/kpr/ वेबसाइट पर जाना होगा. सबसे पहले राष्ट्रीयता भरने के लिए इंडियन पर क्लिक करें.
  • जिस तारीख को यात्रा करनी है, वो सिलेक्ट करें। पासपोर्ट व अन्य डिटेल भी निर्देशानुसार भरते जाएं.
  • ऑनलाइन फार्म भरते समय ओरिजनल पासपोर्ट साइज की फोटो और पासपोर्ट के फ्रंट व बैक पेज की पीडीएफ फाइल सेव करके रखें. इसे अपलोड करना होगा.
  • सभी जरूरी डिटेल भरने और दस्तावेज अपलोड करने के बाद फॉर्म सबमिट कर दीजिए. सारी प्रक्रिया केंद्र सरकार के विदेश मंत्रालय की निगरानी और दिशा-निर्देशों के अनुसार पूरी की जाएगी.
  • श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की पीडीएफ फाइल, जिसमें फ्रंट और लास्ट पेज के साथ एक पासपोर्ट साइज फोटो अपलोड करना होगा. पुलिस वेरिफिकेशन के दौरान आपको आनलाइन अपलोड हुए आवदेन के साथ आधार कार्ड और पैन कार्ड की एक प्रति उपलब्ध कराना होगा.