पाक का दावा, कुलभूषण जाधव ने किया मौत और जेल की सजा पर पुनर्विचार के लिए याचिका दायर करने से इनकार

0
135
views

पाकिस्तान ने दावा किया है कि कुलभूषण जाधव ने उसकी मौत और जेल की सजा पर पुनर्विचार के लिए याचिका दायर करने से इनकार कर दिया है. जाधव, 49 वर्षीय सेवानिवृत्त भारतीय नौसेना अधिकारी हैं, जिन्हें अप्रैल 2017 में जासूसी और आतंकवाद के आरोप में पाकिस्तानी सैन्य अदालत ने मौत की सजा सुनाई थी.

पाकिस्तान के अतिरिक्त अटॉर्नी जनरल अहमद इरफान ने दावा किया कि जाधव को 17 जून को उनकी सजा और सजा पर पुनर्विचार और पुनर्विचार के लिए याचिका दायर करने के लिए निमंत्रण दिया गया था. इरफान ने कहा कि जाधव ने याचिका दायर करने से इनकार कर दिया और अपने कानूनी अधिकार का प्रयोग करते हुए उसने अपनी लंबित दया याचिका को ही आगे बढ़ना पसंद किया.

उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान सरकार ने भारतीय उच्चायोग को याचिका दायर करने और अंतिम समय सीमा से पहले समीक्षा के लिए प्रक्रिया शुरू करने के लिए लिखा था. इरफान ने आगे कहा कि पाकिस्तान ने जाधव को दूसरे वकील को करने की पेशकश की है. पाकिस्तान ने बताया कि इसके साथ ही इस बार वह अपने पिता और पत्नी से मिल सकता है. बता दे कि पाकिस्तान में जाधव को वकील मुहैया कराने से इनकार करने और मौत उसे की सजा दिए जाने के फैसले को चुनौती देने के लिए भारत ने साल 2017 में अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय का रुख किया था.