डेरा प्रमुख पर फैसले से पहले केंद्र के संपर्क में हरियाणा, पंजाब-राजस्थान बॉर्डर किया गया सील

0
120
views

हरियाणा में भाजपा का सहयोग करने वाले डेरा सच्चा सौदा प्रमुख पर आने वाले कोर्ट के फैसले के मद्देनजर सरकार असमंजस में हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल जहां भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रदेश प्रभारी डॉ. अनिल जैन से इस बारे में चर्चा कर चुके हैं, वहीं केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के भी संपर्क में हैैं।

मुख्यमंत्री सोमवार को भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में भागीदारी करने दिल्ली जा रहे हैैं। वहां उनकी डेरा प्रमुख पर आने वाले संभावित फैसले के मद्देनजर कानून व्यवस्था को लेकर प्रधानमंत्री व भाजपा अध्यक्ष से फिर चर्चा हो सकती है। केंद्र सरकार पहले से इस मसले को लेकर गंभीर है।

केंद्रीय गृह सचिव ने पिछले दिनों हरियाणा और पंजाब के डीजीपी तथा गृह सचिवों को बुलाकर कानून व्यवस्था की स्थिति पर विस्तार से चर्चा की थी। उसके बाद डीजीपी बीएस संधू फील्ड में निकल पड़े और अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं। केंद्रीय गृह सचिव को भी लगातार रिपोर्ट भेजी जा रही है। पंजाब के डीजीपी भी केंद्र सरकार के संपर्क में हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केंद्रीय नेताओं को 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट पंचकूला का फैसला आने की जानकारी देने के साथ ही कानून व्यवस्था के लिए किए जा रहे बंदोबस्त से भी अवगत कराया है। हरियाणा ने केंद्र से पैरा मिलिट्री फोर्स की 150 कंपनियां मांग रखी हैं। तीन दर्जन से अधिक कंपनियां पहुंच भी गई हैं और उन्हें तैनात करना शुरू किया जा चुका है।

पंजाब-राजस्थान बॉर्डर सील

वहीं दूसरी ओर कानून व्यवस्था बिगड़ने के अंदेशे को लेकर पुलिस ने पंजाब-राजस्थान बॉर्डर सील कर दिए हैं। सोमवार से अर्ध सैनिक बल सुरक्षा व्यवस्था का जिम्मा संभालेंगे। रविवार देर रात को जम्मू-कश्मीर से अर्ध सैनिक बल की टुकड़ियां सिरसा पहुंच गई। बॉर्डर के साथ-साथ जिले में कई प्रमुख स्थानों पर पुलिस नाके लगाए गए हैं। जहां पर छह से आठ पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। जो वाहनों की चेकिंग भी करेंगे।

हथियार जमा करवाने के निर्देश

पुलिस ने असलाह धारकों से भी अपना-अपना असलाह थानों में जमा करवाने के निर्देश जारी कर दिए हैं। प्रशासन की ओर से डेरे में होने वाली प्रत्येक गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।