देश का सबसे प्रदूषित शहर हुआ पानीपत, खतरनाक स्थिति में पहुंचा प्रदूषण स्तर

0
148
views

हरियाणा की हवा के स्तर में कोई सुधार नहीं हो रहा है. मंगलवार को प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच गया. पानीपत देश का सबसे प्रदूषित शहर बन गया. एक्यूआइ 458 रिकॉर्ड किया गया. शाम को घटकर 454 पर आ गया. एक्यूआइ बढऩे से उद्योगों पर संकट कम होने का नाम नहीं ले रहा. उधर, सांसद संजय भाटिया और विधायक प्रमोद विज के साथ उद्यमी सीएम मनोहर लाल से मिले। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद सीएनजी आधारित उद्योग बुधवार से चलेंगे.

लगातार उद्योग बंद रहने के कारण निर्यातकों को जनवरी में लगने वाले इंटरनेशनल फेयर की चिंता सताने लगी हैं. जर्मनी में 6 जनवरी को इंटरनेशनल फेयर शुरू होगा। विश्व भर के एक्सपोर्टर स्टाल लगाते हैं. पानीपत के एक्सपोर्टरों की विशेष भूमिका होती है.

पानीपत के उद्योग 16 दिन से लगातार बंद हैं. एनवायरमेंट पॉल्यूशन प्रीवेंशन एंड कंट्रोल अथॉरिटी (ईपीसीए) ने 14 नवंबर की सुबह तक उद्योग बंद रखने के निर्देश दिए हैं. प्रदूषण का स्तर कम नहीं होने के कारण उद्यमियों को बंदी की समय-सीमा बढऩे की चिंता सता रही है.

मंगलवार को सुबह 9 बजे एक्यूआइ 458 था. इसमें पीएम 2.5 न्यूनतम 405 माइक्रोग्राम और सामान्य 461 माइक्रोग्राम रहा. इसी तरह पीएम 10 का स्तर 388 और 453 रहा.  शाम को एक्यूआइ 454 रहा। पीएम 2.5 न्यूनतम 323 और सामान्य 454 रहा. पीएम 10 न्यूनतम 281 और सामान्य 440 रहा.

मंगलवार को हवा 4 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से चली. आद्र्रता 54 फीसद रही. विशेषज्ञों की माने तो हवा की गति कम होने से एयर क्वालिटी इंडेक्स बढ़ा है. जबकि गत कई दिनों तक हवा तेज चलने पर एक्यूआइ नीचे आ गया था.