लगातार 6 दिन से बढ़ रहे हैं पेट्रोल, डीजल के दाम, जानिए आपके शहर का भाव

0
164
views

लॉकडाउन धीरे-धीरे खुलने के साथ ही पेट्रोल-तथा डीजल की कीमत में बढ़ोतरी बरकरार है। लगातार छठे दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतों (Petrol-Diesel price today) में 59 पैसे प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी की गई। सरकारी तेल कंपनियों (Government oil companies) ने ईंधन की कीमतों में किए जाने वाले रोजाना बदलाव को दोबारा शुरू कर दिया। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 74.00 रुपये से बढ़कर 74.57 रुपये प्रति लीटर हो गई। इसी तरह डीजल की कीमत 72.22 रुपये से बढ़कर 72.81 रुपये प्रति लीटर हो गई।

इसी के साथ कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 76.48 रुपये और डीजल की कीमत 68.70 रुपये प्रति लीटर हो गई। चेन्नै में पेट्रोल 78.47 रुपये प्रति लीटर हो गया, जबकि डीजल 71.14 रुपये हो गया। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 81.53 रुपये प्रति लीटर और डीजल 71.48 रुपये प्रति लीटर हो गई।

आइए जानें आज आपके शहर में क्या हैं पेट्रोल और डीजल के दाम…
शहर का नाम                   पेट्रोल/रुपये लीटर            डीजल/रुपये लीटर
दिल्ली                                   74.57                         72.81
मुंबई                                     81.53                         71.48
चेन्नै                                     78.47                         71.14
कोलकाता                              76.48                          71.14
नोएडा                                    76.59                         66.60
रांची                                      73.78                         69.28
अहमदाबाद                             70.29                        68.41
बेंगलुरु                                  76.98                          69.22
पटना                                     78.81                         71.47
भुवनेश्वर                              75.07                           71.10
चंडीगढ़                                 71.79                            65.08

रोजाना बदलेगी तेल की कीमत
एक अधिकारी ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमत में दैनिक बदलाव की प्रक्रिया दोबारा शुरू कर दी गई है। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियां नियमित अंतराल पर विमान ईंधन और घरेलू रसोई गैस (LPG) कीमतों में बदलाव कर रही थीं। लेकिन 16 मार्च से पेट्रोल और डीजल की कीमतें स्थिर बनी हुई थीं। इसकी वजह अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कच्चे तेल (Crude oil price) की कीमतों को लेकर भारी उथल-पुथल होना था। सरकार के पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क (Excise duty) तीन रुपये प्रति लीटर बढ़ाए जाने के तुरंत बाद इनकी कीमतें स्थिर हो गईं।

बढ़ाई गई थी एक्साइज ड्यूटी
बाद में छह मई को सरकार के पेट्रोल पर 10 और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर उत्पाद शुल्क (Excise duty) और बढ़ाने के बावजूद इनकी कीमतें स्थिर बनी रही। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों के रिकॉर्ड निचले स्तर पर चले जाने से कंपनियों के जो लाभ हुआ उन्होंने इससे सरकार द्वारा बढ़ाए गए उत्पाद शुल्क की बढ़ोतरी की।