PM मोदी ने मणिपुर में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया

0
302
views

पंजाब से मिशन 2019 की शुरुआत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पूर्वोत्तर राज्यों के दौरे पर पहुंचे. दौरे की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी ने मणिपुर में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया और इम्फाल में जनता को 400 केवी डबल सर्किट सिल्चर-इम्फाल लाइन समर्पित की.

इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिस मणिपुर को, जिस नॉर्थ ईस्ट को नेताजी ने भारत की आजादी का गेटवे बताया था, उसको अब न्यू इंडिया की विकास गाथा का द्वार बनाने में हम जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि जहां से देश को आजादी की रोशनी दिखी थी, वहीं से नए भारत की सशक्त तस्वीर आप सभी की आंखों में स्पष्ट दिखाई दे रही है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि अब पहले की तरह मंत्री यहां आकर सिर्फ फीता काटकर नहीं जाते बल्कि यहां आते हैं और रुकते हैं. अब मुझे यहां कि रिपोर्ट के लिए किसी का इंतजार नहीं करना पड़ता, बल्कि सीधे आप लोगों से रिपोर्ट मिलती है. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की अनदेखी का नतीजा है कि 19-20 करोड़ का प्रॉजेक्ट 500 करोड़ का हो गया क्योंकि अगर यह प्रॉजेक्ट पहले पूरा हो जाता तो यहां किसानों को बूंद-बूंद पानी के लिए तरसना नहीं पड़ता.’

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘पहले की सरकारों में कामों को लटकाने-अटकाने का काम चलता था, जिसे हमारी सरकार ने आकर खत्म किया. आप लोग भी महसूस कर रहे होंगे कि मोदी के आने के बाद कामों में इतनी तेजी कैसे आ गई, जबकि सरकारी अधिकारी और सिस्टम वही है. मैंने पिछले 4.5 वर्षों में लगभग 30 बार पूर्वोत्तर क्षेत्र का दौरा किया है. मुझे यहां लोगों से बात करना और मिलना बहुत पसंद है. मुझे अधिकारियों से रिपोर्ट मांगने की आवश्यकता नहीं है, मैं इसे सीधे लोगों से प्राप्त करता हूं। अतीत और वर्तमान में यही अंतर है.’

मणिपुर के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के सिलचर में जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आप सभी को भरोसा दिलाने आया हूं कि नेशनल रजिस्टर सिटिजनशिप (NRC) से कोई भी भारतीय नागरिक नहीं छूटेगा. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ‘सिटिजन-शिप अमेंडमेंट बिल’ उस पर भी आगे बढ़ रही है. ये बिल लोगों की भावनाओं और उनकी जिंदगियों से जुड़ा हुआ है.

उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में यदि कहीं भी, मां भारती में आस्था रखने वाले किसी बेटे-बेटी को प्रताड़ित किया जाएगा, तो वो कहां जाएगा ? क्या उसके पासपोर्ट का रंग ही देखा जाएगा ? क्या रक्त का कोई रिश्ता नहीं होता है ? पीएम मोदी ने कहा कि वोट के लिए देश की संप्रभुता, सुरक्षा, संसाधनों और सांस्कृतिक विरासत से समझौता हम नहीं होने देंगे, इसमें किसी को संदेह नहीं होना चाहिए.

पीएम मोदी ने कहा कि असम सिर्फ एक भू-भाग नहीं है, बल्कि आपार संसाधनों से भरा और समृद्ध संस्कृति का जीवंत समाज है. यहां की परंपरा, भाषा-खानपान, यहां के संसाधन, यानि असमिया हकों को पूरी तरह संरक्षित रखते हुए, ‘सबका साथ, सबका विकास’ के लिए सरकार प्रतिबद्ध है.

आपको बता दें, BJP और उसके सहयोगियों ने पूर्वोत्तर के 8 राज्यों की 25 संसदीय सीटों में से 21 पर जीत दर्ज करने का लक्ष्य बनाया है. असम में उन्हें 14 सीटों में से कम से कम 11 पर जीतने की उम्मीद है. पिछले लोकसभा चुनावों में BJP  ने असम में 7 सीटें जीती थीं. 2016 विधानसभा चुनावों में वह 61 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी.

शनिवार को ओडिशा को तोहफा देंगे मोदी

इसके अलावा पीएम मोदी शनिवार को ओडिशा में 4500 करोड़ रुपये से अधिक की केंद्रीय परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे. मोदी की मयूरभंज जिले के बारीपदा की यात्रा के दौरान इन परियोजनाओं का उद्घाटन किया जाएगा, इनमें राष्ट्रीय राजमार्ग 215 पर 43.2 किलोमीटर लंबे रिमुली-कोईडा खंड का 828.36 करोड़ रुपये में चार लेन में परिवर्तन, राष्ट्रीय राजमार्ग 6 पर सिंगारा-बिंजाबहाल खंड का 1,313 करोड़ रुपये में चार लेन में परिवर्तन, राष्ट्रीय राजमार्ग 215 पर कोईडा-राजमुंडा खंड का 1,176.4 करोड़ रुपये में चार लेन में परिवर्तन शामिल हैं. इसके अलावा प्रधानमंत्री इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड की पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर एलपीजी पाइपलाइन के बालेश्वर-हल्दिया-दुर्गापुर खंड को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे.