PM मोदी ने मालदीव यात्रा से पाकिस्तान को दिया कड़ा संदेश

0
238
views

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरे कार्यकाल में अपनी पहली विदेश यात्रा पर शनिवार को मालदीव पहुंचे. मालदीव ने भी प्रधानमंत्री मोदी को विदेशी शख़्सियतों को दिए जाने वाले सर्वोच्च सम्मान ‘रूल ऑफ़ निशान इज़्ज़ुद्दीन’ से सम्मानित किया.

  • सम्मानित किए जाने के बाद पीएम मोदी ने मालदीव का आभार जताया और लिखा, मालदीव ने मुझे अपने देश का सर्वोच्च सम्मान दिया है और मैंने विनम्रता से इसे स्वीकार किया.
  • यह सिर्फ मेरा सम्मान नहीं है बल्कि दोनों देशों की दोस्ती का सम्मान है.
  • कुछ दिन पहले दोनों देशों के बीच रिश्तों की तस्वीर ऐसी नहीं थी. पिछले कुछ वर्षों में मालदीव से भारत के रिश्ते बेहतर नहीं रहे, इसी का फायदा उठाकर चीन ने मालदीव में अच्छा खासा दबदबा बनाया.
  • मगर मालदीव में 2018 के बाद जब सरकार बदली उसके बाद से भारत के साथ रिश्तों की नई पहल हुई.
  • इसी रिश्ते को और मजबूत करने के लिए पीएम मोदी मालदीव पहुंचे. वहां की संसद को संबोधित किया और आतंकवाद के मुद्दे पर आक्रमकता से अपनी बात रखी.

आतंक पर प्रहार

मालदीव और भारत अपने बेहतर रिश्ते की ओर बढ़ चले हैं. दोनों देशों के लिए आंतक से लड़ना मुख्य मुद्दों में शामिल है. दरअसल, मालदीव में खाली पड़े द्वीपों में लश्कर अपने पैर जमा रहा है. मालदीव के युवा ISIS से काफी प्रभावित बताए जाते हैं. 2016 में मालदीव से 250 से ज्यादा युवा ISIS में शामिल होने गए. इराक-सीरिया में लड़ते हुए मालदीव के कई युवा मारे गए. ISIS से जुड़े कुछ युवा वापस लौटे और मालदीव में साइबर हब बनाया. शायद इसीलिए मालदीव की संसद से पीएम मोदी ने आतंक पर सीधा प्रहार किया.