PM मोदी बोले- पड़ोसी देश युद्ध लड़ने में सक्षम नहीं, इसलिए घुसपैठ करता है

0
286
views

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के 50वें स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह में हिस्सा लिया. इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पड़ोसी देश युद्ध लड़ने में सक्षम नहीं, इसलिए घुसपैठ करता है.

कार्यक्रम में जवानों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘आपकी (जवानों) उपलब्धियां काफी महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि जब पड़ोसी शांत है, लड़ने में सक्षम नहीं है, देश पर आंतरिक रूप से हमला करने की कोशिश करे और आतंक का एक अलग रूप सामने आए तो देश की रक्षा करना और मुश्किल हो जाता है. लेकिन आपके शानदार प्रदर्शन के लिए मैं आपको बधाई देता हूं.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमें सीआईएसएफ पर गर्व है. जवानों ने अपना दायित्व बखूबी निभाया है. उन्होंने कहा कि स्वतंत्र भारत के सपनों को साकार करने में सीआईएसएफ एक महत्वपूर्ण इकाई है. 50 साल तक लगातार हजारों लोगों ने आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए इसे विकसित किया है, तब जाकर ऐसा संगठन बनता है.

पीएम मोदी ने कहा, ‘आपका काम कितना कठिन है मैं यह समझ सकता हूं. प्रधानमंत्री को भी सुरक्षा मिलती है लेकिन एक व्यक्ति की सुरक्षा करना मुश्किल नहीं है, लेकिन 30 लाख लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी काफी बड़ा काम होता है जो सीआईएसएफ काफी अच्छे से निभाता है. एक संगठन को सुरक्षा देना, जहां 30 लाख तक लोग आते हों, जहां हर चेहरा अलग हो, सबका व्यवहार अलग हो, ये काम किसी वीआईपी को सुरक्षा देने से कई गुना बड़ा काम है.’

उन्होंने कहा, ‘CISF से जुड़े आप सभी लोगों ने राष्ट्र की संपदा को सुरक्षित रखने में अहम भूमिका निभाई है. एयरपोर्ट और मेट्रो में सुरक्षा CISF के समर्पण से ही संभव हो पाई है. आपदाओं की स्थिति में भी आपका योगदान हमेशा से सराहनीय रहा है. केरल में आई भीषण बाढ़ में आपने राहत, बचाव के काम में दिन रात एक करके हजारों लोगों का जीवन बचाने में मदद की.’

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के आज 50वां स्थापना दिवस है. इस मौके पर गाजियाबाद के इंदिरापुरम में 5वीं बटालियन शिविर में कार्यक्रम आयोजित किया गया. यहां प्रधानमंत्री मोदी ने दो अधिकारियों सुधीर कुमार और जितेंद्र सिंह नेगी के अलावा एक इंस्पेक्टर एस. मुत्थुस्वामी और एक जवान आर. सूर्यराजा को सम्मानित किया.