पिता शेख अब्दुल्ला ने बनाया था पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PSA), बेटे फारुक को लिया गया हिरासत में

0
99
views

जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्‍दुल्‍ला को रविवार रात पब्लिक सेफ्टी ऐक्‍ट (पीएसएस) के तहत हिरासत में ले लिया गया। पीएसए के तहत किसी भी शख्स को बिना किसी मुकदमे के दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है। दिलचस्‍प बात यह है कि पब्लिक सेफ्टी ऐक्‍ट को 1978 में फारूक अब्‍दुल्‍ला के पिता शेख मोहम्‍मद अब्‍दुल्‍ला ने लागू किया था।

  • शेख अब्‍दुल्‍ला यह ऐक्‍ट लकड़ी के तस्‍करों पर रोकथाम लगाने के लिए लाए थे
  • इसके तहत सरकार को पहली बार में किसी व्‍यक्ति को छह महीने हिरासत में रखने और फिर बिना मुकदमा चलाए इस हिरासत को दो साल तक बढ़ाने का अधिकार है.
  • वह मुख्यमंत्री पद पर रहे ऐसे पहले व्यक्ति हैं जिन्हें PSA के तहत हिरासत में लिया गया है

PSA के लोक व्‍यवस्‍था प्रावधान के तहत हिरासत में फारूक

  • PSA के तहत दो प्रावधान हैं-‘लोक व्यवस्था’ और ‘राज्य की सुरक्षा को खतरा’
  • पहले प्रावधान के तहत किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के छह महीने तक और दूसरे प्रावधान के तहत किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के दो साल तक हिरासत में रखा जा सकता है
  • अधिकारियों ने बताया कि फारूक अब्‍दुल्‍ला को PSA के ‘लोक व्यवस्था’ प्रावधान के तहत हिरासत में लिया गया है
  • PSA केवल जम्मू कश्मीर में लागू है, जबकि देश के अन्य हिस्सों में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) है.

वाइको की याचिका पर सुनवाई से पहले लगा PSA
गौरतलब है कि MDMK नेता वाइको की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से कुछ घंटे पहले अब्दुल्ला के खिलाफ PSA लगाया गया है. वाइको ने दावा किया था कि अब्दुल्ला को राज्य में अवैध रूप से हिरासत में रखा गया है. जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के 5 अगस्त के केंद्र के फैसले के बाद से फारूक कथित तौर पर नजरबंद रखे गए थे.