पंजाब शिक्षा मंत्री की चेतावनी, लॉकडाउन में मांगी फीस तो होगी कार्रवाई

0
325
views

कोरोना महामारी के मद्देनजर लॉकडाउन के दौरान निजी स्कूल छात्रों के परिजनों से फीस की मांग नहीं कर सकते हैं. पंजाब के शिक्षा मंत्री विजय इन्दर सिंगला ने साफ किया है कि इसको लेकर वे दो बार आदेश जारी कर चुके हैं. उन्होंने कहा है कि उनके ध्यान में कुछ मामले आ रहे हैं कि अब स्कूल संचालक परिजनों को ईमेल या वाट्सएप में फीस का मैसेज भेजने की बजाए स्कूल टीचरों से परिजनों को ऑनलाइन फीस जमा करवाए जाने का दबाव बना रहे हैं जोकि गलत है.

उन्होंने कहा है कि स्कूल संचालक ऐसा न करें. क्योंकि अभी परिजन फीस भरने के हालात में नहीं है. वर्तमान समय में सभी का कोरोना से बचना ही लक्ष्य है. उन्होंने साफ किया कि यदि परिजनों की तरफ से कोई भी शिकायत लिखित में उनके पास पहुंच जाती है तो शिक्षा विभाग स्कूल के विरूद्ध सख्त एक्शन को मजबूर होगा. उन्होंने साफ किया है कि फीस के लिए दबाव बनाने पर स्कूल की मान्यता तक रद्द हो सकती है.

बताया जा रहा है कि ऐसी शिकायतें उन्हें बार-बार मिल रही थी कि फीस जमा करने के लिए स्कूल प्रबंधन टीचरों से फोन करवा रहा है. शिक्षा मंत्री ने परिजनों को भी अपील की है कि स्कूल संचालकों के फोन की शिकायत शिक्षा विभाग या फिर उन्हें करें तुरंत कारवाई होगी. उन्होंने कहा है कि परिजन बच्चों समेत घरों के अंदर रहे. अपनी और बच्चों की सेहत का ख्याल रखें. कोरोना वायरस से बचने के लिए सरकारी की ओर से जारी सभी सावधानियों को अपनाएं और कर्फ्यू नियमों की पालना की जाए.

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार सभी सेहत के प्रति गंभीर है. जरूरतमंदों तक हर जरूरी वस्तु को उनके घरों तक ही पहुंचाया जा रहा है. पंजाब के लोग किसी भी तरह की मदद के लिए जारी किए गए जिला स्तर हेल्पलाइन नंबर और पंजाब स्तर के हेल्पलाइन नंबर पर फोन कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि मदद के लिए लोग कोवा एप की मदद भी ले सकते हैं.