पंजाब : मास्क नहीं पहनने पर करोड़ों रुपए का जुर्माना वसूल, नहीं सुधर रहे हैं लोग

0
157
views

कोरोनो वायरस से बचाव के लिए केंद्र सरकार कई जागरूकता अभियान चला रही है। जनता को महामारी से बचने के लिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा जा रहा है। नियमों का पालन नहीं करने वालों पर पुलिस ने चालानी कार्रवाई भी की। हालांकि, इन सबके बावजूद लोग बेपरवाह हैं। पंजाब सरकार कर्फ्यू के दो महीने में करीब सवा तीन करोड़ रुपए वसूल चुकी है।

  • केंद्र ने 15 अप्रैल को मास्क न पहनने पर 200 और पब्लिक प्लेस पर थूकने पर 100 रुपए का जुर्माना तय किया
  • कैप्टन अमरिंदर सरकार ने 30 मई से मास्क न पहनने और पब्लिक प्लेस पर थूकने पर 500-500 रुपए और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर तीन हजार रुपए का जुर्माना तय किया था
  • लोगों ने 2.25 करोड़ मास्क न पहनने और एक करोड़ थूकने के लिए चुकाए.

सबसे ज्यादा मास्क नहीं पहनने पर काटे गए चालान

  • सबसे ज्यादा 50% चालान मास्क न पहनने पर काटे गए
  • वहीं, 21% थूकने और बाकी सोशल डिस्टेंसिंग और कर्फ्यू उल्लंघन के हैं
  • चालान की कुल रकम का 70% जुर्माना जालंधर, लुधियाना, बठिंडा और पटियाला के लोगों ने ही भरा
  • ये सभी चालान आपदा प्रबंधन कानून 2005 में निर्धारित नियमों के तहत हुए।

4 शहरों में सबसे ज्यादा कार्रवाई

बठिंडा: 7748 लोगों से 24 लाख का जुर्माना वसूला
बठिंडा में कुल 24.28 लाख रुपए का जुर्माना वसूला गया। इसमें मास्क न पहनने पर 7748 लोगों से 23 लाख 11 हजार 400 रुपए और थूकने पर 927 लोगों से 1 लाख 8 हजार 300 रुपए जुर्माना लिया गया।

जालंधर: मास्क न पहनने पर 20 लाख चुकाए
जालंधर में कुल 21.5 लाख का जुर्माना हुआ। मास्क न पहनने पर 5445 लोगों से 20.68 लाख रुपए, थूकने पर 282 से 30,600 रुपए, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने पर 2 चालान कर 4000 का जुर्माना वसूला गया। कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर 1252 लोगों को अरेस्ट भी किया गया।

लुधियाना: 50 लाख रुपए की रिकवरी
शहर में 16 हजार 690 चालान व 50 लाख का जुर्माना हुआ। जिनमें मास्क न पहनने पर 12 लाख 95 हजार 300 रुपए, थूकने पर 2 लाख 22 हजार 500 रुपए, सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर 16 लोगों से 48000 हजार वसूले।

पटियाला: 12.43 लाख रुपए जुर्माना
पटियाला के लोगों ने मास्क नहीं पहनने पर 12 लाख 43 हजार 400 रुपए का जुर्माना भरा। पब्लिक प्लेस पर थूकने पर 9500 का जुर्माना भरवाया गया। कर्फ्यू में नियम तोड़ने पर 11 हजार 147 चालान किए और 763 वाहन जब्त भी हुए।