मलोट : किसानों के हित में उठाए कदमों से कांग्रेस की नींद उड़ गई है- PM मोदी

0
66
views

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को श्री मुक्तसर साहिब के मलोट में किसान कल्याण रैली को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की शुरुआत पंजाबी भाषा में की. पीएम मोदी ने कहा कि सीमाओं की रक्षा हो, खाद्य सुरक्षा हो या फिर श्रम-उद्यम का क्षेत्र हो, पंजाब ने हमेशा से देश को प्रेरित करने का काम किया है. उन्होंने कहा कि मलोट में आज किसानों का कुंभ लगा है.

पंजाब के मलोट में किसान कल्याण रैली में पीएम मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा. पीएम मोदी ने कहा कि जिस पार्टी ने 70 साल तक देश में शासन किया, उसने किसानों की चिंता नहीं की. 70 सालों से किसानों के लिए अवैज्ञानिक नीतियां बनती रहीं. उन्होंने कहा कि किसान हमारे देश की आत्मा है. किसान हमारा अन्नदाता है. कांग्रेस ने हमेशा किसानों के साथ धोखा किया, किसानों से झूठ बोला.

पीएम मोदी ने कहा कि 70 साल तक जिन्हें किसानों का हक देने की फुर्सत नहीं थी, वो आज किसानों को गुमराह करने पर जुटे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की और उनके सहयोगियों की नींद उड़ गई है. किसान चैन से सो जाए, ये कांग्रेस को मंजूर नहीं है और इसलिए कांग्रेस की नींद खराब हो गई है.

अपने भाषण में पीएम मोदी ने कहा कि सीमा पर खड़ा जवान हो या खेत में जुटा हुआ मेरा किसान भाई हो, दोनों का सम्मान और स्वाभिमान बढ़ाने का काम हमारी सरकार ने किया है. हमारी सरकार ने वन रैंक-वन पेंशन का वादा पूरा किया. हमारी ही सरकार ने एमएसपी पर अपना वादा निभाया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मलोट को ‘सफेद’ सोने के लिए जाना जाता है. उन्होंने कहा कि कपास पर जितना सरकारी भाव अब तक मिलता था, उससे 1130 रुपये अधिक आपको मिलने का रास्ता साफ हो गया है. पीएम मोदी ने कहा कि मक्के की रोटी, सरसों का साग, ये दुनिया भर में आज ब्रांड पंजाब की एक नई पहचान बन चुका है.

उन्होंने कहा कि मक्के के एमएसपी में 275 रुपये की बढ़ोतरी की गई है. मक्के के अलावा ज्वार, रारी जैसे पौष्टिक और फाइबर से पूरिपूर्ण अनाज के लिए भी 50 प्रतिशत से अधिक का लाभ सुनिश्चित किया गया है. पीएम मोदी ने कहा कि डेढ़ गुना समर्थन मूल्य का हमने वादा किया था, लेकिन इसको एक संकल्प के तौर पर हमने विस्तार दिया.

रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 2022 तक किसानों की आय दो गुना करने की हम कोशिश करेंगे. बीते चार वर्षों में करीब पौने दो लाख सिड विलेज कार्यक्रम चलाए गए हैं. उन्होंने कहा कि देश में अभी तक 15 करोड़ से ज्यादा Soil Health Card वितरित किए जा चुके हैं.

उन्होंने कहा कि देश में एक दौर था जब यूरिया किसानों के पास जाने के स्थान पर फक्ट्रियों में चला जाता था और किसानों को यूरिया लेने के लिए लाठी खानी पड़ती थी, हमने यूरिया का 100 फीसदी नीम कोटिंग किया और आज यूरिया किसानों के लिए पर्याप्त मात्र में उपलब्ध होता है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसान की फसल बर्बाद ना हो इसके लिए प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना चल रही है. देश भर में नए गोदाम बनाए जा रहे हैं, फूड पार्क बनाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि पूरी सप्लाई चेन को मजबूत किया जा रहा है और ये सुनिश्चित किया जा रहा है कि किसान को उसकी फसल नष्ट होने की वजह से नुकसान न उठाना पड़े.

प्रधानमंत्री ने इस दौरान किसानों से पराली जलाने का मुद्दा उठाया. उन्होंने अपील करते हुए कहा कि किसान पराली ना जलाएं और नई मशीनों का उपयोग करें. इसके लिए सरकार पैसों की मदद भी कर रही है. उन्होंने कहा कि किसान अगर पराली नहीं जलाएंगे तो खाद के खर्चे में भी कमी आएगी. पंजाब सरकार को पराली से जुड़े कामों में तेजी लानी चाहिए.

इस रैली में प्रधानमंत्री के साथ अकाली दल के प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल भी मंच पर मौजूद रहे. इसके अलावा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी मौजूद रहे.  इन सभी के अलावा पंजाब बीजेपी और अकाली दल के नेता भी रहे.