राफेल डील मामला : तय प्रक्रिया के तहत हुई डील-सुप्रीम कोर्ट

0
171
views

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट  में गुरुवार को कई अहम फैसलों पर सुनवाई हुई. शीर्ष अदालत ने जहां सबरीमाला  और राफेल सौदे  पर दाखिल रिव्यू पिटीशन पर फैसला सुनाया. वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ दायर आपराधिक अवमानना याचिका पर भी सुनवाई की.

  • राफेल डील पर मोदी सरकार को बड़ी राहत
  • सभी पुनर्विचार याचिकाएं खारिज करने के बाद सुप्रीम कोर्ट से राफेल डील मामले में मोदी सरकार को बड़ी राहत मिली है.
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुआई वाली बेंच ने राफेल मामले में दायर की गई सभी पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया है.
  • कोर्ट ने 14 राफेल लड़ाकू विमान के सौदे को वैध मानते हुए 14 दिसंबर, 2018 के अपने फैसले को बरकरार रखा है.
  • सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में याचिकाकर्ताओं की सौदे की प्रक्रिया में गड़बड़ी की दलीलों को खारिज कर दिया है.
  • चीफ जस्टिस की अगुआई वाली बेंच ने कहा कि हमें ऐसा नहीं लगता कि इस मामले में किसी तरह की कोई जांच होनी चाहिए.

बेंच ने कहा कि हम इस बात को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं कि अभी इस मामले में कॉन्ट्रैक्ट चल रहा है. इसके साथ सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा हलफनामे में हुई भूल को भी स्वीकार किया है.

आपराधिक अवमानना मामले में राहुल गांधी को राहत
सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आपराधिक अवमानना के मामले में राहत दे दी है. इसी के साथ कोर्ट ने राहुल गांधी की माफी स्वीकार कर ली है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी को बयान देते समय सतर्क रहना चाहिए. राहुल गांधी पर आरोप था कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को तोड़-मरोड़ कर पेश किया, जिससे कोर्ट की अवमानना हुई है. नई दिल्ली से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी की ओर से दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है. इस याचिका में राहुल गांधी पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए राफेल डील मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को गलत तरीके से लोगों के सामने रखने की कोशिश की.