GST काउंसिलः टैक्‍स फ्री हुआ सैनेटरी नैपकिन, ये चीजें भी हुईं सस्ती

0
127
views

केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल की अध्यक्षता में जीएसटी काउंसिल की 28वीं बैठक दिल्ली के विज्ञान भवन में हुई. इस बैठक के दौरान जीएसटी काउंसिल ने सैनेटरी नैपकिन को जीएसटी से बाहर करने का फैसला लिया है. इस पर जीएसटी की दर को 12 फ़ीसदी से हटाकर 0 फ़ीसदी कर दिया गया है.

बैठक में शामिल हुए दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि सैनेटरी नैपकिन अब जीएसटी से फ्री है. सैनेटरी नैपकिन पर जीएसटी काउंसिल के फैसले से महिलाओं को बड़ी राहत मिली है. दरअसल, सैनेटरी नैपकिन अब तक 12 फीसदी के जीएसटी स्‍लैब में शामिल है लेकिन इस फैसले की लंबे समय से आलोचना हो रही थी और कई महिला संगठनों ने इसको लेकर नाराजगी जाहिर की थी.

इसके अलावा जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में 35 से ज्यादा उत्पादों पर जीएसटी रेट घटाए गए हैं. 28 फीसदी वाले कई प्रोडक्ट्स पर जीएसटी को कम किया गया है. बांस को 12 फीसदी के टैक्‍स स्‍लैब में रखा गया है. रिफ्रिजरेटर, लिथियम आयरन बैटरीज, वैक्यूम क्लीनर, फूड ग्राइंडर, जूसर, स्टोरेज वॉटर हीटर, हेयर ड्रायर, इलेक्ट्रिक आयरन, पेंट्स, वॉटर कूलर, आइसक्रीम फ्रीजर, महिलाओं के लिए परफ्यूम, पाउडर, कॉस्मेटिक आदि पर 28 से 18 फीसदी जीएसटी किया गया है. हैंडलूम की दरी, फॉसफॉरिक एसिड, 1000 रुपये से कम की टोपी आदि पर जीएसटी 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी किया गया है. केरोसिन स्टोव आदि पर जीएसटी 18 फीसदी की जगह अब 12 फीसदी लगेगा.

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जीएसटी काउंसिल ने 46 सुधारों को मंजूरी दी है, इन्हें संसद में पास करवाया जाएगा. उन्होंने बताया कि जीएसटी की नई दरें 27 जुलाई से लागू होंगी. साथ ही उन्होंने बताया कि असम, अरुणाचल प्रदेश, हिमाचल, सिक्किम, हिमालय के व्यापारियों की छूट की सीमा बढ़ाकर 10 से 20 लाख की गई.