कोटखाई रेप एंड मर्डर केस में प्रदेश सरकार की मुश्किलें बढ़ीं, भाजपा के निशाने पर CM

0
199
views
कोटखाई में दसवीं की छात्रा से दुराचार और हत्या मामले का सात दिन बाद भी खुलासा न होने से सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं. भाजपा इस प्रकरण पर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को निशाने पर ले रही है, जबकि अन्य सामाजिक संगठन और राजनीति दलों ने भी पुलिस जांच को कटघरे में खड़ा किया है.

प्रदेश भाजपा भी जनता के साथ सीबीआई जांच की मांग कर रही है. प्रदेश कांग्रेस संगठन भी पुलिस जांच से अंसतोष जता चुका है. होशियार सिंह प्रकरण के बाद इस मामले पर सियासी रंग चढ़ने से हर गुजरते दिन के साथ जनता में गुस्सा भी बढ़ता जा रहा है. पुलिस जांच बेनतीजा रहने के बाद दो दिन से एसआईटी जांच में जुटी है, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी है.

कोटखाई प्रकरण में भाजपा की प्रदेश लीडरशिप ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. भाजपा के हमलावर तेवरों के अलावा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सुक्खू जांच में ढिलाई बरतने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर चुके हैं।

प्रदेश कांग्रेस के तलख तेवरों के बीच परिवहन मंत्री जीएस बाली भी मामले में अब तक खुलासा नहीं होने पर चिंता जता चुके हैं. ऐसे में सरकार पर दबाव बढ़ा है. इसका असर मंगलवार रात को सीएम के फेसबुक पेज पर अपलोड हुई चार फोटो हैं. सीएम ने फेसबुक पेज के माध्यम से जनता को आश्वस्त करने की कोशिश की है कि मामले में चार संदिग्धों तक पुलिस पहुंच चुकी है.

लेकिन जल्दबाजी में संदिग्धों के फोटो तक अपलोड कर दिए गए. हालांकि बाद में भूल सुधारते हुए फोटो हटा दिए गए. बुधवार को भी मामले में पुलिस की ओर से कोई खुलासा नहीं हुआ, जिससे एक बार फिर विपक्षी दलों और सामाजिक संगठनों ने मोर्चा खोल दिया है.