हिमाचल के डलहौजी और कोटखाई में चुनावी रैली करने के बाद बुधवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मंडी और हमीरपुर में जनसभाएं संबोधित कीं। यहां अमित शाह ने कांग्रेस पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि राहुल गांधी दीवार पर लिख लें कि हिमाचल में बीजेपी की सरकार बनेगी। हिमाचल में चुनाव तारीख की घोषणा के बाद रैलियों का सिलसिला तेज हो गया है। यहां 68 सीटों के लिए 9 नवंबर को मतदान होगा, जबकि रिजल्ट 18 दिसंबर को घोषित होंगे। मंडी के थुनाग में जनसभा संबोधित करते हुए अमित शाह ने आगे कहा कि हिमाचल की जनता वीरभद्र सरकार

अहमदाबाद भाजपा राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि उनके बेटे जय शाह की कंपनी में भ्रष्टाचार का कोई सवाल ही नहीं उठता। गौरतलब है कि जय शाह की कंपनी पर आर्थिक अनियमितता का आरोप लगाया गया है। एक न्‍यूज चैनल से बातचीत में अमित शाह ने कहा कि जय की कंपनी में भ्रष्‍टाचार का कोई सवाल ही नहीं है। उन्‍होंने इस मुद्दे पर कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस ने भ्रष्‍टाचार के कई आरोप झेले हैं। क्या आज तक उन्होंने कभी मानहानि का केस दायर किया? क्‍यों नहीं इस तरह के मामलों के लिए उन्‍होंने इसकी हिम्‍मत

नई दिल्‍ली: भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण  जेटली ने बैठक के बारे में जानकारी देते हुए पत्रकारों को बताया कि प्रधानमंत्री ने पार्टी और राजनीति से पहले देश की जनता को सर्वाेपरी बताया है. प्रधानमंत्री ने आतंक के खिलाफ लड़ाई पर भी बात रखी. उन्होंने कहा कि विदेशी आतंकी भारत में आए जिन्हें मारा गया. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के मामले में जो भी पकड़ा जाएगा वह बचेगा नहीं. उन्होंने साफ कहा कि मेरा कोई रिश्तेदार नहीं है. जेटली ने बताया कि पीएम ने केंद्र सरकार की नीतियों के साथ-साथ विदेश नीतियों को भी पार्टी कार्यकर्ताओं के सामने रखा. डोकलाम विवाद पर पहली बार अपनी

कांगड़ा विधानसभा चुनाव से ठीक पहले हिमाचल प्रदेश पहुंचे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा। कांगड़ा में आयोजित युवा हुंकार रैली में शाह ने कहा कि वीरभद्र सरकार ने हिमाचल प्रदेश को पूरे देश में बदनाम किया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के मुख्यमंत्री को भ्रष्टाचार वाले सीएम के रूप में जाना जाता है। भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद भी कांग्रेस के सीएम ने इस्तीफा नहीं दिया। शाह ने दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा 50 से ज्यादा सीटें जीतकर दो तिहाई बहुमत हासिल करने जा रही है। उन्होंने कहा

हरियाणा के भाजपा विधायकों और सरकार के कामकाज का मूल्यांकन शुरू हो गया है। भाजपा हाईकमान राज्य में एक ऐसा सर्वे करा रहा, जिसके जरिए न केवल विधायकों की छवि का पता चल सकेगा, बल्कि सरकार की जनता में लोकप्रियता का पैमाना भी तय होगा। इस सर्वे के आधार पर पार्टी भविष्य में कड़े निर्णय ले सकती है। कई विधायकों के टिकट कट सकते हैैं तो कुछ विधायकों पर पार्टी फिर से दांव खेल सकती है। भाजपा हाईकमान द्वारा कराया जा रहा सर्वे हिंदी में है। सांसदों की कार्य प्रणाली का फीडबैक पार्टी पहले ही ले चुकी है, जिसमें चार सांसदों

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पंचकूला में हुई हिंसा के बाद पहली बार दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की, ऐसे में ये मुलाकात काफी अहम मानी जा रही थी। मुलाकात के बाद मनोहर लाल ने बताया कि उन्होंने पंचकूला में हुई हिंसा मामले पर अमित शाह को रिपोर्ट सौंपी है। सीएम मनोहर लाल ने इस्तीफे की खबर से इंकार किया और कहा कि हमने अपना काम अच्छे से किया है, जो इस्तीफा मांगता है, मांगता रहे। उन्होंने बताया कि, हरियाणा सरकार ने संयम से काम लिया और वो अपने काम से संतुष्ट हैं। सीएम मनोहर लाल

दिल्ली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं के समक्ष रायपुर में विधानसभा चुनाव में 65 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है. कार्यक्रम में कांग्रेस पर बोलते हुए अमित शाह ने महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए उन्हें एक ‘चतुर’ बनिया किया. अमित शाह ने कहा, 'कांग्रेस किसी एक विचारधारा के आधार पर किसी एक सिद्धांत के आधार पर बनी हुई पार्टी ही नहीं है, वह आजादी प्राप्त करने का एक स्पेशल पर्पज व्हीकल है, आजादी प्राप्त करने का एक साधन था और इसलिए महात्मा गांधी ने दूरदर्शी के साथ, बहुत चतुर बनिया था वो, उसको मालूम

चंडीगढ़ स्थित हरियाणा सचिवालय में आज दोपहर साढ़े तीन बजे बीजेपी विधायक दल की बैठक होगी। बैठक की अध्यक्षता सीएम मनोहर करेंगे. आपको बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह चार, पांच और छह जुलाई को हरियाणा दौरे पर हैं. ऐसे में इस बैठक में अमित शाह के इस आयोजन पर भी चर्चा होगी और रणनीति तय की जाएगी. साथ ही इस दौरान पार्टी संगठन को मजबूत करने और प्रदेश सरकार के कामकाज को लेकर चर्चा की जाएगी. सीएम मनोहर लाल अफसरशाही के खिलाफ अपनाए गए कड़े तेवरों और अधिकारियों-कर्मचारियों के तबादलों को लेकर भी विधायकों से बात कर सकते हैं।