जम्मू-कश्मीर सरकार के लिए उस समय शर्मनाक स्थिति पैदा हो गई जब एक अलगाववादी नेता की फोटो बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के पोस्टर में लग गई। इस पोस्टर में भारत की पूर्व पीएम इंदिरा गांधी, लता मंगेशकर और सीएम महबूबा मुफ्ती के साथ अलगाववादी नेता आसिया अंद्राबी की फोटो लगा दी गई है। आसिया अंद्राबी फिलहाल जेल में बंद हैं। पोस्टर का उद्देश्य उपलब्धियां हासिल करने वाली देश की महिलाओं को दिखाना है। इसे दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग इलाके में बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए आयोजित एक समारोह में लगाया गया था। अंद्राबी पाकिस्तान समर्थक दुख्तरान-ए-मिल्लत संगठन की

टेरर फंडिंग मामले में अलगाववादी नेताओं के खिलाफ कानूनी शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। इसी सिलसिले में रविवार को अलगाववादी नेता शब्बीर शाह के सहयोगी असलम वानी को आतंकी फंडिंग केस में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा श्रीनगर से गिरफ्तार किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसके बाद असलम वानी को पूछताछ के लिए दिल्ली लाया जाएगा। बता दें कि 3 अगस्त को दिल्ली की अदालत ने शब्बीर शाह की हिरासत छह दिन के लिए बढ़ा दी थी। ईडी ने आतंकवादियों के संपर्क में था शब्बीर शाह - ईडी ने अदालत को बताया कि शाह पाकिस्तान के आतंकवादियों के संपर्क में था और