आज कल जब देश में बड़े अफसरों के बेटे भी आर्मी ज्वाइन नहीं करना चाहते, उस दौर में यूपी सीएम के भाई सेना में नौकरी कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के छोटे भाई शैलेन्द्र मोहन इंडियन आर्मी में सूबेदार हैं. शैलेन्द्र को गढ़वाल स्काउट इकाई में माना बॉर्डर के पास तैनात किया गया है. यहां पहाड़ी सीमाओं की रक्षा के लिए सैनिकों के रूप में केवल स्थानीय लोगों को रोजगार दिया जाता है. यह पूछने पर कि क्या उनके बड़े भाई (योगी) से उनकी मुलाकात होती है. इस पर उन्होंने कहा कि योगी के यूपी के मुख्यमंत्री

यूपी के शामली में एक बड़ा हादसा हुआ है। सर शादी शुगर मिल के वेस्टेज को नष्ट करने को डाले गए केमिकल से निकली गैस ने यहां मंगलवार को कोहराम मचा दिया। गैस से सरस्वती विद्या मंदिर व सरस्तवी जुनियर हाई स्कूल के पांच सौ से ज्यादा बच्चे बेहोश हो गए। घटना के बाद कार्रवाई करते हुए फैक्ट्री को सील कर दिया है। घटना के बाद मुख्यमंत्री ने सहारनपुर कमिश्नर को मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं वहीं जिला अधिकारी को घटना में पीड़ित बच्चों को हर तरह की सहायत देने के निर्देश दिए हैं। सभी बेहोश और बीमार बच्चों

लखनऊ  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार ने बुधवार को मदरसों की अनुदान राशि को लेकर एक बड़ा और विवादित फैसला लिया है। इसमें सरकार ने 46 मदरसों की अनुदान राशि रोक दी है। गौरतलब है कि यह अनुदान राशि किसी वैचारिक मतभेद के चलते नहीं बल्कि शासन की जांच रिपोर्ट में मानक के अनुरूप सही न पाए जाने के चलते 46 मदरसों का अनुदान रोका गया है। ज्ञात हो कि पूरे प्रदेश में कुल 560 मदरसों को सरकार द्वारा अनुदान राशि दी जाती है। मामले की जांच जिलाधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक और जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी की संयुक्त कमेटी कर

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र इलाके में हावड़ा से जबलपुर जा रही शक्तिपुंज एक्सप्रेस के सात डिब्बे ओबरा डैम के पास पटरी से उतरे. यह घटना गुरुवार सुबह 6.15 बजे हुई. जो डिब्बे पटरी से उतरे हैं उनमे एसी के चार, जनरल के दो और एसएलआर का एक डिब्बा है. हादसे में अभी तक किसी के मरने की सूचना नहीं है. मिली जानकारी के मुताबिक डैम पास होने की वजह से ट्रेन की स्पीड कम थी इसलिए हादसे में ज्यादा नुकसान की खबर नहीं है। 20 दिनों में यूपी में हुआ ये तीसरा रेल हादसा है।

भाजपा सरकार ने पिछले पांच साल तक भर्तियों में हुए भ्रष्टाचार की जांच का आदेश देकर उन प्रतियोगी छात्रों की मुरादें पूरी कर दी हैं, जिनकी आवाज नक्कारखाने में तूती की तरह दब जा रही थीं. प्रतियोगी छात्र अलग-अलग स्तर पर कई सालों से भर्तियों की जांच के लिए आंदोलन चला रहे हैं और उन्होंने अदालत में भी लंबी लड़ाई लड़ी. अब उन्हें उम्मीद है कि भर्तियों का सच सामने आएगा. बुधवार को विधानसभा में इस बात का ऐलान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया. उन्होनें कहा, "पिछली सरकार के दौरान भर्तियों में जमकर गड़बड़ी हुई थी. भर्तियों की सीबीआई जांच होगी और गड़बड़ियों

मानसून लगातार सितम ढा रहा है. भारी बारिश व बाढ़ से बुधवार को उत्तर प्रदेश में सात, असम में पांच, मध्य प्रदेश में दो, उत्तराखंड दो व बिहार में एक व्यक्ति की मौत हो गई. ज्यादातर पहाड़ी व मैदानी राज्यों में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त है. कई राज्यों में राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित होने से लोगों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा. वहीं उत्तराखंड में भूस्खलन व बारिश से तीर्थ यात्रियों को खासी दिक्कतें हुईं. राज्यभर में नदी-नाले उफान पर हैं. हरिद्वार में गंगा चेतावनी रेखा से ऊपर बह रही है। टिहरी झील के जल स्तर में तीन मीटर का

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ‘पप्पू’ कहने वाले उत्तर प्रदेश के कांग्रेसी नेता विनय प्रधान को पार्टी ने बर्ख़ास्त कर दिया है. प्रधान मेरठ जिला इकाई के अध्यक्ष थे. राज्यस्तरीय अनुशासन समिति के अध्यक्ष रामकृष्ण द्विवेदी ने प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर से मशविरा करने के बाद यह फैसला लिया. एक अंग्रेजी अखबार के हवाले से सामने आई ख़बरों में बताया गया है कि प्रधान ने हाल में ही पार्टी के स्थानीय कार्यकर्ताओं के व्हाट्सऐप ग्रुप पर एक संदेश भेजा था. इसमें उन्होंने लिखा, ‘राहुल गांधी को इस देश के लोगों का एक वर्ग पप्पू कहता है. लेकिन लोग इस बात के भी गवाह हैं

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बीयर बार के उद्घाटन को लेकर मीडिया खबरों पर संज्ञान लेते हुए सोमवार को राज्य मंत्री स्वाति सिंह से स्पष्टीकरण मांगा है. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री ने कृषि निर्यात राज्य मंत्री स्वाति सिंह के एक बीयर बार का उदघाटन किये जाने के संबंध में मीडिया में प्रसारित खबरों का संज्ञान लिया है. वहीं, मामले में स्वाति सिंह ने सफाई दी है. उन्होंने कहा, 'मैंने रेस्त्रां का उद्घाटन किया है. मामले को बेवजह तूल दिया जा रहा है. रेस्त्रां मेरी देवरानी की सहेली का है. मुझे इसकी ज्यादा जानकारी नहीं

1984 के सिख विरोधी दंगों में उत्तर प्रदेश में अपनी सारी संपत्ति गंवाकर पंजाब आ बसे दंगा पीड़ितों ने मुआवजे के लिए पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में दस्तक दी है. हाईकोर्ट ने याचिका पर सुनवाई करते हुए पंजाब और केंद्र सरकार को 2 अगस्त तक इस मामले में पक्ष रखने के आदेश दिए हैं. मामले में याचिका दाखिल करते हुए पीड़ितों की ओर से इंद्रबीर सिंह छटवाल ने कहा कि दंगों के दौरान देश के कई हिस्सों में भारी नुकसान हुआ था. इस दौरान पंजाब के साथ ही उत्तर प्रदेश व अन्य हिस्सों में लोगों की संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया था. ऐसे ही कुछ