बठिंडा: पंजाब में किसानों की खुदकुशी के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला पंजाब के बठिंडा का है जहां एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली। मृतक की पहचान गुरमीत सिंह (29) के रुप में हुई है। किसान पर लगभग 3 लाख रुपए का कर्ज था, जिससे वह परेशान था और आखिर में ट्रेन के आगे कूद कर जान दे दी।

पंजाब में किसानों की खुदकुशी का सिलसला जारी है। तलवंडी साबो के गामा बागा के रहने वाले अमरजीद सिंह (65) ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली। किसान के ऊपर 3 लाख रुपए का कर्ज था। किसान के साथ उसकी विधवा बेटी और और उसके दो बच्चों भी रहते थे, जिसका बोझ भी किसान पर था। लबें समय से किसान आर्थिक तंगी से परेशान था, जिसके बाद आखिर में किसान ने जिंदगी से हार मान ली और कीटनाशक पीकर अपनी जान दे दी। किसान के परिवार की मांग है कि उनको आर्थिक मुवावजा दिया साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी

पंजाब में किसानों की खुदकुशी का सिलसिला बदस्तूर जारी है. एक के बाद एक किसान कर्ज से परेशान होकर अपनी जान दे रहे हैं.ताजा मामला राजपुरा का है जहां 32 साल के किसान हरदीप सिंह ने कर्ज से परेशान होकर खुदकुशी कर ली. मृतक पर करीब 17 लाख रुपए का कर्ज था. परिजनों के मुताबिक बैंक लगातार हरदीप पर दबाव बना रहा था, जिससे परेशान हो कर हरदीप ने जहरीला पदार्थ खा लिया और जान दे दी.

चीन ने पिछले साल राष्ट्रपति शी जिनपिंग की ढाका यात्रा के दौरान- सॉफ्ट लोन को कॉमर्शियल क्रेडिट में बदलने का प्रस्‍ताव बांग्लादेश के सामने रखा. इससे यह स्‍पष्‍ट संकेत मिल रहा है कि अब बांग्‍लादेश भी श्रीलंका की तरह कर्ज के दलदल में फंस सकता है. हालांकि बांग्‍लादेश इसका विरोध कर रहा है. वन बेल्‍ट वन रोड प्रोजैक्‍ट के जरिए चीन बाकि के एशियाई देशों, अफ्रीका और यूरोप से जुड़ेगा. इस प्रोजैक्‍ट के लिए लोन पैटर्न को बदलने की चीन के पहल का बांग्‍लादेश ने विरोध किया है क्‍योंकि इससे बांग्‍लादेश को अधिक ब्‍याज का भुगतान करना होगा और इसकी हालत भी