मोदी मंत्रिमंडल में नए मंत्रियों के शपथग्रहण समारोह को घंटा भर भी नहीं बीता कि रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर ये साफ कर दिया कि वो अब रेल मंत्री नहीं रहेंगे. उन्होंने रेल कर्मचारियों को धन्यवाद करते हुए कहा कि वो इन यादों को हमेशा सहेज कर रखेंगे. सुरेश प्रभु ने रेल मंत्रालय की कमान नवंबर 2014 में संभाली थी. उससे पहले सदानंद गौड़ा रेलमंत्री थे. बीते कुछ महीनों में रेल हादसों के बाद सुरेश प्रभु की कुर्सी पर खतरे के बादल मंडराने लगे थे और अब उन्होंने खुद साफ कर दिया कि वो जा रहे हैं.