पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज केंद्रीय विदेश मंत्री  सुषमा स्वराज को साउदी अरब में मुश्किल में से गुजऱ रही मां -बेटी की सुरक्षित वापसी के लिए मदद के लिए तुरंत दख़ल देने की मांग की है। सुषमा को किये ट्वीट में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘‘नवांशहर की दोनों मांँ -बेटी साउदी अरब में मुश्किल में हैं, उनकी जल्द से जल्द मदद करें''.   Please look into this @SushmaSwaraj ji. This Mother-daughter duo from Nawanshahr are in trouble in Saudi Arabia. Request your urgent help. pic.twitter.com/cYZ65HHoKX — Capt.Amarinder Singh (@capt_amarinder) October 30, 2017 इस ट्वीट के जवाब में केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा

नवांशहर विजिलेंस की टीम ने नवांशहर में पावरकॉम के एसडीओ को 50 हजार रुपये रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। एसडीओ राम लाल कलेर राहों के कार्यालय में तैनात है। विजिलेंस जालंधर के एसएसपी दलजिंदर सिंह ढिल्लों ने बताया कि गांव भारटा कलां के निवासी हरजिंदर सिंह ने शिकायत दी थी कि एसडीओ ने यह पैसे उसे मोटर का कनेक्शन देने के नाम पर मांगे थे। हरजिंदर ने अपनी पत्नी राजिंदर कौर की मलकीयत वाली जमीन पर ट्यूबवेल कनेक्शन लेने के लिए राहों आफिस में आवेदन किया था। उसके चलते दफ्तर में फाइल अगली कार्रवाई के लिए एसडीओ कलेर के

नवांशहर में गढ़शंकर-बंगा रोड पर खमाचों गांव के पास एलपीजी से भरा टैंकर पलटने से पूरे इलाके में दहशत फैल गई. कर पलटने के बाद एलपीजी के सिलेंडरों से गैस रिसाव होने लगा. खबर मिलते ही प्रशासन मौके पर पहुंचा और आसापास का इलाका सील कर लोगों को हटाया गया. फिलहाल मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद हैं. इलाके में ट्रैफिक को भी डायवर्क किया गया है.  

पंजाब नवांशहर पहुंचे सांसदने पत्रकारों के साथ दुकानदारों द्वारा की गई बदसलूकी की कड़े शब्दों में निंदा की. इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रशासन को मामले में कार्रवाई करनी चाहिए. बता दें कि दिवाली से पहले कुछ मीडियाकर्मी कवरेज के लिए बाजार पहुंचे थे. इस दौरान कुछ दुकानदारों ने मीडिया कर्मियों के साथ हाथापाई की और उनके कैमरे तोड़ने की कोशिश भी की थी. वहीं, साथ ही प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने इस मुद्दे पर कैप्टन सरकार पर भी निशाना साधा.  

पंजाब के नवांशहर से गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकियों को कोर्ट ने आठ दिनों की रिमांड पर भेज दिया गया है. गुरदयाल, जगरूप सिंह और सतविंदर सिंह को कड़ी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया. जहां तीनों को रिमांड पर भेज दिया गया. तीनों आतंकियों के संबंध इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन संगठन से जुड़े हैं जिसपर भारत में प्रतिबंध लगाया गया है. तीनों ने पूछताछ में कबूला है कि उनके पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई से तार जुड़े हुए हैं। और तीनों ने कश्मीर में आतंकी ट्रेनिंग ली है. आपको बता दें कि पंजाब पुलिस ने नवांशहर से तीन आतंकियों