पंचकूला डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपासना इंसा आज फिर पूछताछ के लिए पंचकूला नहीं पहुंची। इससे पहले ही वह कई बार मेडिकल भेजकर पूछताछ में शामिल नहीं हुई है। अब एसआइटी की टीम खुद सिरसा जाकर उससे पूछताछ कर सकती है। हरियाणा के पुलिस महानिदेशक डॉ. बीएस संधू ने कहा कि विपासना से उम्मीद है कि वह सहयोग करेगी। यदि जरुरत पड़ी, तो एसआइटी सिरसा में ही जाकर पूछताछ करेगी। विपासना से डेरे से जुड़े कई राज खुलने की संभावना है। विपासना ही खोल सकती है राज विपासना गुरमीत राम रहीम सिंह और हनीप्रीत के बाद डेरे से सबसे पॉवरफुल है। पुलिस

हरियाणा पुलिस की एसआईटी ने बुधवार को राजस्थान के गुरुसर मोडिया से दस्तावेजों से भरा एक बैग बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक, हनीप्रीत ने ही इसे वहां छिपा रखा था. हनीप्रीत उस बैग को गुरुसर मोडिया में छिपाकर पुलिस रेड से पहले ही फरार हो गई थी. दस्तावेजों की जांच में हनीप्रीत के नाम करोड़ों रुपये की संपत्ति होने की बात पता चली है. इस बैग से पुलिस को जमीन और भवनों की रजि‍स्ट्रियां बरामद हुई है. इसमें से ज्यादातर हनीप्रीत इंसां के नाम से खरीदी गई हैं. बैग से कई बैंक खातों के डेबिट कार्ड भी बरामद हुए हैं. इसके

कभी दुनिया के सात अजूबों की प्रतिकृतियों के साए में सोने वाली गुरमीत रामरहीम की सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत ने अंबाला जेल में पहली रात बिताई है. गुरमीत राम रहीम की बेटी कही जाने वाली हनीप्रीत की जेल में पहली रात चार रोटी और दाल सब्जी खाकर गुजरी और उसे दरी पर सोना पड़ा. जेल में पहली रात को लेकर हनीप्रीत के चेहरे पर कोई उदासी नहीं थी. अंडर ट्रायल होने की वजह से उसे जेल की कोई यूनिफॉर्म नहीं दी गई. जेल प्रशासन की तरफ से उसे सोने के लिए एक दरी, तकिया और चादर दी गई. इससे पहले हनीप्रीत की

चंडीगढ़ रिमांड के दौरान राम रहीम की करीबी हनीप्रीत ने कबूल किया कि पंचकूला में हिंसा उसके इशारे पर हुई। एसआईटी के मुताबिक, हनीप्रीत ने बताया कि हिंसा के लिए उसने सवा करोड़ रुपए भी बांटे थे। रिमांड के बाद मंगलवार को एसआईटी कोर्ट ने हनीप्रीत और सुखदीप कौर को पंचकूला कोर्ट में पेश किया था। इससे पहले हनीप्रीत को 4 अक्टूबर को कोर्ट में पेश किया गया था। इस दौरान हनीप्रीत ने रोते हुए कहा था कि मैं निर्दोष हूं। हनीप्रीत पर 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा की साजिश रचने का आरोप है। पंचकूला हिंसा में 36 लोग मारे

पंचकूला के एक डेंटल कॉलेज में हॉस्टल की तीसरी मंजिल से गिरकर बीस साल के एक छात्र की मौत हो गई. छात्र का नाम नूरजाम हैवारी था जोकि कंप्यूटर इंजीनियर सेकेंड इयर का छात्र था. वहीं, छात्र की मौत के बाद गुस्साए छात्रों ने कॉलेज परिसर में जमकर तोड़फोड़ की. छात्रों ने मैनेजमेंट पर लापरवाही का आरोप लगाया है. वहीं छात्रों के हंगामे को देखते हुए भारी तादाद में पुलिस मौके पर मौजूद है.  

पंचकूला। यहां वाटर ट्रीटमेंट प्‍लांट में डूबने से दो लड़कों की मौत हो गई। दोनों वहां नहाने गए थे और इसी दौरान डूब गए। इसे वहां अफरा तफरी मच गई। लाेगों ने दोनों को बाहर निकला, लेकिन तब तक उनकी मौत हो गई थी। दोनों जिले के गांव घग्‍गर गांव के रहने वाले थे और नौवीं कक्षा के छात्र थे। घटना गांव के पास बहती नदी घग्घर के किनारे गांव चौंकी में बने हुडा के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में हुई। गांव घग्‍गर के के जितेन और तुषार दोपहर बाद वहां नहाने गए थे। इसी दौरान वे गहराई की ओर चले गए।

अंबाला पुलिस ने डेरा प्रमुख की कुर्बानी ब्रिगेड के एक और सदस्य को गिरफ्तार किया है। कुर्बानी ब्रिगेड के सदस्य ने पुलिस के सामने कई राज खोले हैं। एडीजीपी आरसी मिश्रा ने बताया कि, डेरा प्रमुख ने हरियाणा में जगह-जगह कुर्बानी ब्रिागेड बनाई हुई थी, जिनका काम सिर्फ आंदोलन में कुर्बानी देना था। डेरा प्रमुख ने भोले-भाले लोगों को बेवकूफ बनाकर काफी पैसा भी जमा किया। फिलहाल पुलिस ने कुर्बानी ब्रिगेड के कई सदस्यों की लिस्ट बनाई है, जिनपर जल्द ही शिकंजा कसा जाएगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पंचकूला में हुई हिंसा के बाद पहली बार दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की, ऐसे में ये मुलाकात काफी अहम मानी जा रही थी। मुलाकात के बाद मनोहर लाल ने बताया कि उन्होंने पंचकूला में हुई हिंसा मामले पर अमित शाह को रिपोर्ट सौंपी है। सीएम मनोहर लाल ने इस्तीफे की खबर से इंकार किया और कहा कि हमने अपना काम अच्छे से किया है, जो इस्तीफा मांगता है, मांगता रहे। उन्होंने बताया कि, हरियाणा सरकार ने संयम से काम लिया और वो अपने काम से संतुष्ट हैं। सीएम मनोहर लाल

रोहतक पंचकूला में हुई आगजनी से सबक लेते हुए रोहतक में पुलिस और सुरक्षा बलों को मौके पर ही तुरंत एक्शन लेने की छूट रहेगी। मोर्चा संभाले जवानों को संदिग्ध गतिविधि पर असामाजिक तत्वों को गोली मारने के निर्देश दिए गए हैं। सुबह से ही पूरा रोहतक और सिरसा सेना की निगरानी में रहेगा। पूरे जेल परिसर की सुरक्षा कड़ी करते हुए रोहतक में अर्धसैनिक बलों की 23 कंपनियां तैनात की गई हैं। सेना स्टैंड बाई पर रहेगी, जबकि पूरे जोन के अलावा प्रदेश के दूसरे स्थानों से बुलाए गए पुलिस अधिकारी और जवान भी मोर्चा संभाले रहेंगे। आपको बता दें कि

चंडीगढ़ मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंचकूला में हुई हिंसा के लिए सीधे रूप से हरियाणा सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उनका कहना है कि सबसे बड़ी चूक 1.5 लाख लोगों को एक जगह इकट्ठा होने देना था। कैप्टन ने भले ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को जिम्मेदार माना, लेकिन पार्टी लाइन से इतर हो खïट्टर के इस्तीफे पर चुप्पी साध ली। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा इतनी बड़ी भीड़ को कंट्रोल करना अपने आप में बहुत बड़ी चुनौती होती है। वहीं, हरियाणा सरकार ने आरोप लगाया है कि डेरा प्रेमी पंजाब के रास्तों से होते हुए पंचकूला पहुंचे, पंजाब सरकार