बीजिंग। चीन ने कहा कि उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण स्थल के नजदीक शनिवार को आये 3.5 तीव्रता के भूकंप के पीछे कारण कोई ताजा परमाणु परीक्षण नहीं था। चाइना अर्थक्वेक नेटवर्क्स सेंटर (सीईएनसी) ने कल देर रात एक बयान में कहा कि इंफ्रासोनिक आंकड़ों से पता चलता है कि यह घटना परमाणु विस्फोट नहीं थी बल्कि यह प्राकृतिक रूप से भूकंप ही था। हालांकि शुरू में उसने विस्फोट का संदेह जाहिर किया था। उत्तर कोरिया का तीन सितंबर को हुआ पिछला परमाणु परीक्षण देश का सबसे शक्तिशाली परीक्षण था। इसके बाद चीन में सीमा पर 6.3 तीव्रता के भूकंप के तेज झटके

उत्तर कोरिया ने कहा है कि उसने लंबी दूरी की मिसाइल के लिए डिजाइन किए गए एक हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया है और उसने अपने इस छठे और सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण को पूरी तरह से सफल बताया था. हालांकि, उसके इस कदम पर दुनिया के कई प्रमुख देशों ने चिंता जाहिर की है और अमेरिका ने सख्त आर्थिक प्रतिबंधों की सूची तैयार करने की बात कही है. भारत ने भी उसके इस कदम की आलोचना की है. उत्तर कोरिया में आम लोगों के लिए भी अजीबोगरीब कानून हैं, जिन्होंने यहां के लोगों की जिंदगी को कठिन बना रखा है. 1. उत्तर