हरियाणा सरकार मंडियों में डिजिटल और हाईटेक करने का दावा करती है. लेकिन सच्चाई ये है कि मंडियों में अभी भी आधारभूत सुविधाओं की कमी बनी हुई है. पानीपत अनाज मंडी के सचिव मंडी में हर जरूरी सुविधा देने की बात करते हैं. लेकिन आढ़तियों और मजदूरों के मुताबिक मंडी में मूलभूत सुविधाओं की भारी कमी है. उधर, किसानों का कहना है कि उन्हें अपनी फसल का उचित दाम से मतलब है. मंडी की सुविधाओं से उनका कोई सरोकार नहीं है.

पानीपत शहर में दुष्कर्म के बाद चार साल की बच्ची की हत्या का अभियुक्त सुखराम अक्सर आसपास के बच्चों को टॉफी व कुरकुरे खाने को देता था। उसने बच्ची को भी 16 सितंबर को कुरकुरे का पैकेट दिलाया था। बच्ची की मां ने विरोध किया था तो सुखराम ने उसे डांटते हुए कहा था कि वह बच्ची को जहर तो नहीं दे रहा है। इसके अगले दिन 17 सितंबर की रात को बच्ची घर से बाहर हनुमान स्वरूप देखने निकली थी, तभी सुखराम ने उसे पहले टॉफी दी और फिर गोलगप्पे खिलाने का झांसा देकर साथ ले गया। वह बच्ची को मकान

पानीपत के द मिलेनियम स्कूल के टॉयलेट में नौ साल की छात्रा के साथ छेड़छाड़ के मामले में पुलिस ने स्कूल के स्वीपर को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस पूछताछ में 22 साल के स्वीपर तरुण ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर लेगी. आपको बता दें कि द मिलेनियम स्कूल के टॉयलेट में बच्ची के साथ दुष्कर्म की भी कोशिश हुई थी. जब छात्रा की मां उसे कपड़े पहना रही थी उसी दौरान मां ने बच्ची के शरीर पर खरोंच के निशान देखे थे और पुलिस को इस

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख संत राम रहीम पर 25 अगस्त को पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी जिसको को लेकर पूरे हरियाणा में सुरक्षा सख्त कर दी गई है. पानीपत में डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर अकील कुरैशी ने अधिकारियों के साथ बैठक की पुलिस अधिकारियों को अलर्ट रहने के आदेश दिए. वहीं पानीपत में पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती के भी आदेश जारी किए. डीएसपी हेडक्वार्टर जगदीप दून ने बताया की डीसी के आदेश आते ही धारा 144 लगा दी जाएगी और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस अलर्ट है. दरअसल डेरा प्रेमियों की तरफ से अल्टीमेटम दिया गया है

पानीपत प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पानीपत के वार्ड नंबर 17 में फॉर्म भरने के नाम पर तीन-तीन सौ रुपये लेने का मामला सामने आया है. गरीब लोगों से पैसे लेने का आरोप वार्ड के पार्षद पर ही लगा है. वहीं इस मामले में अब बीजेपी पार्षदों और कार्यकर्ताओं ने डीसी और निगम कमिश्नर से मिलकर निष्पक्ष जांच करने की मांग की है. बता दें कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों के टूटे मकान बनाने के लिए फ्री में फॉर्म भरवाए जा रहे हैं, लेकिन पानीपत के वार्ड नंबर 17 में इसी योजना के नाम पर लोगों से पैसे ऐंठे जा