पेट्रोल पंप डीलरों ने देशव्यापी हड़ताल वापस ले ली। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से बातचीत के बाद पेट्रोल पंप डीलरों ने हड़ताल वापस लेने का फैसला किया। बता दें कि देशभर के पेट्रोलडीलरों  ने आगामी 13 अक्टूबर से हड़ताल पर जाने का एलान किया था। देश भर में करीब 54 हजार डीलर पेट्रोलियम उत्पादों के 54,000 डीलरों ने 13 अक्तूबर को देशव्यापी हड़ताल करने का एलान किया था। यूनाइटेड पेट्रोलियम फ्रंट (यूपीएफ) ने बेहतर लाभ (मार्जिन) समेत विभिन्न मांगों और पेट्रोलियम पदार्थों को भी जीएसटी के दायरे में लाए जाने के लिए इस हड़ताल का एलान किया था। फ्रंट ने मांग की है कि चार

मुंबई देशभर में करीब 54000 पेट्रोल पंप 13 अक्टूबर को बंद रहेंगे। पेट्रोल पंप संचालक लंबे समय से पेंडिंग अपनी मांगों को पूरा करवाने के लिए हड़ताल पर जा रहे हैं। पेट्रोलियम डीलर्स असोसिएशन ने देशव्यापी हड़ताल की घोषणा करते हुए पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के दायरे में लाने और उन्हें बेहतर मार्जिन दिये जाने की मांग की है। फेडरेशन ऑफ महाराष्ट्र पेट्रोल डीलर्स असोसिएशन के अध्यक्ष उदय लोध ने कहा कि यह निर्णय यूनाइटेड पेट्रोलियम फ्रंट की पहली बैठक में लिया गया। यह फ्रंट देशभर में पेट्रोल डीलर्स के तीन बड़े संगठनों को मिलाकर बनाया गया है। इनकी मांगों में ऑइल