वाशिंगटन व्हाइट हाउस ने रविवार को साफ कर दिया कि पेरिस जलवायु समझौते को लेकर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं आया है। मीडिया में आ रही खबरों को खारिज करते हुए ह्वाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका ने जलवायु समझौते पर कोई नरमी नहीं दिखाई है। वह इससे बाहर आएगा और समझौते में वापसी तभी करेगा जब इसकी शर्ते अमेरिका के हितों के अनुकूल होंगी। ह्वाइट हाउस का यह बयान उन खबरों पर आया है, जिनमें कहा जा रहा था कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मांट्रियल में विचार-विमर्श के दौरान समझौते में बने रहने की घोषणा कर सकते हैं। ह्वाइट हाउस की

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 2015 में हुए पेरिस जलवायु समझौते से बाहर निकलने की घोषणा की है. ट्रंप ने 2016 में राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के दौरान इसकी घोषणा की थी. इस फैसले के साथ अमेरिका ग्लोबलवार्मिंग से मुकाबले में अंतरराष्ट्रीय प्रयासों से अलग हो गया. ट्रंप ने समझौते से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि हमारे नागरिकों के संरक्षण के अपने गंभीर कर्तव्यों को पूरा करने के लिए अमेरिका पेरिस जलवायु समझौते से हट रहा है. हम उससे हट रहे हैं और फिर से बातचीत शुरू करेंगे. ट्रंप ने आगे कहा कि वे चाहते हैं कि जलवायु परिवर्तन को लेकर पेरिस