मध्यप्रदेश में हसीब हिंदुस्तानी नाम के शख्स बाइक खरीदने के लिए 57,000 रुपए की चिल्लर लेकर शोरूम पहुंच गए जिसको देख वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए। इतने पैसों की चिल्लर देख शोरूम वाले ने पहले तो हसीब को मना कर दिया लेकिन फिर उसका किस्सा सुनकर शोरूम वाला मान गया और हसीब को उसकी मनपंसद बाइक हीरो स्पलेंडर दे दी। एक, दो, पांच और दस रुपए के सिक्के लेकर शोरूम पहुंचे हसीब ने बताया था कि उसके परिवार में दस लोग हैं जो पिछले तीन सालों से वह बाइक खरीदने के लिए एक-एक पैसा जोड़ रहे थे। इतना सुनकर शोरूम डीलर

नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को 67 साल के हो गए हैं। इस मौके पर उनके संसदीय क्षेत्र वाराणसी से लेकर गुजरात तक कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस बीच कांग्रेस नेताओं का पीएम मोदी पर कटु हमला जारी है। पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह के बाद अब मनीष तिवारी ने पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है। मनीष तिवारी ने जो ट्वीट किया है, उसमें पीएम मोदी का जिक्र करते हुए आपत्तिजनक शब्द लिखे गए हैं। मनीष तिवारी ने ट्वीट किया, 'इसे कहते हैं चू#$% को भक्त बनाना और भक्तों को पर्मानेंट चू#$% बनाना- जय हो। यहां तक कि

डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच हुए समझौते के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बढ़े 'कद' के साथ BRICS सम्मेलन में पहुंचने के लिए चीन रवाना हो गए है। बीते तीन सालों में पहली बार किसी एशियाई देश ने चीन को अपना सामर्थ्य दिखाया है। हालांकि संभव है कि सम्मेलन के दौरान जब पीएम मोदी चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मिलेंगे तो डोकलाम से जुड़े किसी पहलू पर बात ना करें और दोनों के बीच आपसी बातचीत से संबंध बनाने की कोशिश करें। हॉनलूलू स्थित एशिया पसिफिक सेंटर फॉर सिक्यॉरिटी स्टडीज के प्रफेसर मोहन मलिक ने एक अंग्रेजी अखबार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 35वीं बार 'मन की बात' कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित किया. पीएम हर महीने के आखिरी रविवार को 11 बजे इस कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित करते हैं. https://twitter.com/mhonenews/status/901679182324744194 https://twitter.com/mhonenews/status/901679639600422912 कार्यक्रम की शुरुआत में ही पीएम मोदी ने हरियाणा में हुई हिंसा पर चिंता जताई. पीएम मोदी ने कहा कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जा सकती. हिंसा ना ही देश बर्दाश्त करेगा और ना ही सरकार. आस्था के नाम पर कानून हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है. ये देश गांधी और बुद्ध का है. हिंसा किसी भी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश से मन की बात की.  यह इस रेडियो कार्यक्रम का 32वां संस्करण था. इससे पहले पीएम मोदी ने 30 अप्रैल को देश से मन की बात की थी. अपने संबोधन में उन्‍होंने युवाओं से अपने ‘कम्फर्ट जोन’ से बाहर निकलने और नित नए अनुभव करने की अपील की थी. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने वीआईपी कल्‍चर को खत्‍म कर उसकी जगह ईपीआई (एवरी पर्सन इज इंपॉर्टेंट) का अनुसरण करने को कहा था. मुस्लिमों को रमजान की शुभकामनाएं देते हुए मोदी ने कहा कि भारत को इस बात पर गर्व है कि यहां सभी संप्रदाय के लोग रहते हैं