फरीदाबाद में ऑटो में गौमांस ले जाने के शक में ऑटोचालक के साथ मारपीट के मामले में फरीदाबाद पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. बाकी आरोपियों को भी पुलिस तलाश कर रही है. आपको बता दें कि शनिवार को फरीदाबाद में गोमांस के शक में एक ऑटो चालक और उसके दोस्तों की कथित गोरक्षकों ने पिटाई कर दी थी. इतना ही नहीं गोरक्षकों ने ऑटो वाले को भारत माता की जय और हनुमान की जय बोलने के लिए भी कहा और न बोलने पर उसे पीट-पीट कर लहुलूहान कर दिया. घटना फरीदाबाद के बाजड़ी गांव की बताई जा रही

गौरक्षा के नाम पर कथित गौरक्षकों की गुंडागर्दी थमने का नाम नहीं ले रही है. इस बार मामला दिल्ली से सटे फरीदाबाद का है, जहां एक ऑटो में गौमांस होने के शक पर कथित गौरक्षकों ने एक ऑटो ड्राइवर और उसके साथी को जमकर पीटा. इतना ही नहीं आरोपियों ने ऑटो चालक को भारत माता और हनुमान की जय बोलने के लिए कहा और न बोलने पर उसे पीट-पीट कर लहूलुहान कर दिया. पूरा मामला फरीदाबाद के बाजड़ी गाँव का है जहाँ कथित गौरक्षकों ने ऑटो चालक और उसके साथी को पहले जमकर पीटा और फिर उसे बचाने आये तीन युवकों

कुर्बानी गैंग ने अपने धमकी भरे लैटर में मीडिया को निशाने पर लिया है, जिसके बाद पत्रकारों में दहशत का माहौल है। कुर्बानी गैंग से धमकी के बाद फरीदाबाद में पत्रकारों ने पुलिस कमिश्नर हनीफ कुरैशी के मुलाकात की और सुरक्षा को लेकर डीजीपी के नाम एक ज्ञापन सौंपा। वहीं, पुलिस कमिश्नर ने उन्हें भरोसा दिलाया कि इस लैटर के पीछे जिसका भी हाथ है, उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

फरीदाबाद के मुंजेड़ी गांव में स्कूल अपग्रेडेशन की मांग को लेकर 9 दिनों से धरने पर बैठी तीन छात्राओं की तबीयत बिगड़ गई. जिन्हें गंभीर हालत के बाद बादशाह खान अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जब छात्राओं को अस्पताल ले जाने के लिए एंबुलेंस आई तो उन्हें अस्पताल जाने से इनकार कर दिया, लेकिन ज्यादा तबीयत बिगड़ जाने से उन्हें जबरदस्ती अस्पताल में भर्ती कराया गया.  वहीं छात्राओं के धरने को समर्थन देने के लिए कांग्रेस विधायक ललित नागर भी पहुंचे और प्रदेश सरकार पर निशाना साधा.