नई दिल्ली  पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को 36वीं बार मन की बात कार्यक्रम के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कई अहम बातें कहीं। ये हैं मन की बात की 10 बड़ी बातें. मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने आचार्य बिनोवा भावे को याद किया। मन की बात कार्यक्रम में पीएम ने खादी जयंती के अवसर पर खादी की महत्ता के बारे में बताया। श्रीनगर के रहने वाले बिलाल डार के डल झील की सफाई में योगदान की पीएम ने प्रशंसा की। बिलाल ने डल झील से अकेले 12,000 किलो कचरे की सफाई की है। श्रीनगर नगर निगम द्वारा बिलाल को सफाई का

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 35वीं बार 'मन की बात' कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित किया. पीएम हर महीने के आखिरी रविवार को 11 बजे इस कार्यक्रम के माध्यम से देश को संबोधित करते हैं. https://twitter.com/mhonenews/status/901679182324744194 https://twitter.com/mhonenews/status/901679639600422912 कार्यक्रम की शुरुआत में ही पीएम मोदी ने हरियाणा में हुई हिंसा पर चिंता जताई. पीएम मोदी ने कहा कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जा सकती. हिंसा ना ही देश बर्दाश्त करेगा और ना ही सरकार. आस्था के नाम पर कानून हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है. ये देश गांधी और बुद्ध का है. हिंसा किसी भी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश से मन की बात की.  यह इस रेडियो कार्यक्रम का 32वां संस्करण था. इससे पहले पीएम मोदी ने 30 अप्रैल को देश से मन की बात की थी. अपने संबोधन में उन्‍होंने युवाओं से अपने ‘कम्फर्ट जोन’ से बाहर निकलने और नित नए अनुभव करने की अपील की थी. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने वीआईपी कल्‍चर को खत्‍म कर उसकी जगह ईपीआई (एवरी पर्सन इज इंपॉर्टेंट) का अनुसरण करने को कहा था. मुस्लिमों को रमजान की शुभकामनाएं देते हुए मोदी ने कहा कि भारत को इस बात पर गर्व है कि यहां सभी संप्रदाय के लोग रहते हैं