सिरसा में स्वाइन फ्लू का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा हैं. ऐसे में लगातार मौतों का सिलसिला जारी हैं, जहां एक और मरीज की मौत स्वाइन फ्लू के चलते हो गई हैं. वही अब तक 2 रोगी की मौत हो चुकी है. सिरसा ज़िले में अब स्वाइन फ्लू से मरने वालो की संख्या दो हो गई है. इस बार सिरसा ज़िले में 8 स्वाइन फ्लू संभावित मरीजों की जांच की गई थी, जिसमे 4 पॉजिटिव मरीज पाए गए थे जिनमे से दो की मौत हो गई थी,जबकि 2 का उपचार हो गया है. स्वास्थ्य विभाग ने सभी डॉक्टर्स को निर्देश

अंबाला खेतों में पराली न जलाने की हिदायत को लेकर भले ही सुप्रीम कोर्ट कितना भी सख्त हो, लेकिन हरियाणा में खेतों में आग लगा कर अवशेष जलाने का सिलसिला जारी है. ताजा मामला अंबाला के नारायणगढ़ के गांव मिलक का है जहां एक 75 वर्षीय बुजुर्ग किसान प्रेम चंद गया तो अपने खेतों में पानी देने था लेकिन वह वहां खुद आग में झुलस कर मौत का ग्रास बन गया. दरअसल प्रेम चंद वालिया के खेतों में गन्ने की फसल खड़ी थी जिसमे वह पानी देने गए थे, लेकिन  पड़ोस के साथ लगते खेतों में खेत के मालिक सतपाल और उसके

रांची झारखंड में भूख से हुई संतोषी की मौत के मामले को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लिया है। केंद्रीय उपभोक्‍ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने कहा है कि मामले की जांच के लिए जल्द ही एक केंद्रीय टीम राज्य का दौरा करेगी। संतोषी की मौत पर दुख प्रकट करते हुए पासवान ने कहा कि खाद्य सुरक्षा कानून लागु होने के बाद भी तीन माह तक राशन नहीं मिलना चिंता का विषय है। उन्होंने कहा है कि कानून में इस बात का प्रावधान है कि राशन नहीं मिलने की स्थिति में लाभार्थी को न्यूनतम समर्थन मूल्य

फरीदकोट की राजस्थान फीडर नहर में नहाने गए सोलह साल के लड़के की डूबने से मौत हो गई. इसकी पहचान लवप्रीत सिंह निवासी गांव टहना के तौर पर हुई है. जानकारी के मुताबिक रविवार को गर्मी ज्यादा होने के कारण लवप्रीत अपने दोस्तों के साथ राजस्थान फीडर नहर में नहाने गया था, लेकिन पानी का तेज बहाव होने के कारण वो पानी में डूब गया, और उसकी मौत हो गई. जबकि उसके साथी सुरक्षित बाहर निकल आए. गौरतलब है कि इस नहर में पहले भी कई हादसे हो चुके हैं, जिनमें कई जाने जा चुकी हैं. इसके बावजूद प्रशासन कोई ठोस कदम

हिमाचल कोतवाली-मैक्लोडगंज बाईपास पर एक कार के खाई में गिरने से तीन युवकों की मौत हो गई, जबकि दो युवक गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घायलों को टांडा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. हादसे में मरने वाले युवकों की पहचान कार चालक रितेश भारद्वाज (29) पुत्र बलदेव भारद्वाज निवासी गांव पिहिरवीं डाकघर भगेड़ तहसील घुमारवीं, बिलासपुर, शशि पुत्र सुभाष चंद निवासी गांव करयाड़ी, डाकघर तराकड़ तहसील हमीरपुर और सोनी उर्फ राजेश पुत्र कीकर सिंह निवासी गांव भदरोआ डाकघर भटेहड़, तहसील बमसन जिला हमीरपुर और घायलों की पहचान सौरभ पुत्र संतोष कुमार निवासी करयाड़ी और सुनील कुमार पुत्र

अफगानिस्तान एक बार फिर धमाके से दहल गया है. इस बार उत्तर-पश्चिम हेरात में मंगलवार को एक मस्जिद में धमाका हुआ, जिसमें सात लोगों की मौत हो गई. यह धमाका हेरात के जाम-ए-मस्जिद में हुआ है. इस धमाके की वजह से 15 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर मिली है. बीते 3 जून को ही अफगानिस्तान में एक शव यात्रा के दौरान बम बलास्ट में 18 लोग मार गए थे. काबुल के खैर खाना इलाके में इस धमाके की चपेट में आने से 30 से ज्यादा लोग घायल हुए थे. अफगानी मीडिया के मुताबिक पुलिस और विद्रोहियों के बीच

जयपुर में हुए एक दर्दनाक सड़क हादसे से शहर में मातम पसर गया गया है. शादी की तैयारियों में लगे एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई. यहां पृथ्वीराज रोड पर नमक से लदा एक बड़ा ट्रोला कार के ऊपर पलट गया. हादसे में कार पूरी तरह चकनाचूर हो गई है. हादसा इतना भयानक था कि मौके पर ही पांचों लोगों की मौत हो गई.  भीषण हादसे के बाद पुलिस ने ट्रक के खलासी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि ड्राइवर फरार हो गया. पुलिस के मुताबिक खलासी ने बताया है कि करीब साढ़े तीन बजे चोमूं सर्किल